DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब घर बनवाएं

क्या आप कोई प्लॉट खरीदकर उस पर अपने सपनों का घर बनवाने को तैयार हैं। सबसे पहले आप यह जान लें कि एक अच्छे घर में उचित प्रबंध के लिए उस की छत का क्षेत्रफल, प्लाट के क्षेत्रफल का 65 प्रतिशत से ज्यादा नहीं होना चाहिए। बाकी का 35 प्रतिशत खाली जगह को लॉन व फूल पौधे लगाकर संवारना चाहिए। घर में सभी कमरे, लॉबी, रसोई, स्टोर, बाथरूम, बरामदा, गैराज एवं सीढ़ियों आदि का निर्माण अपनी जरूरत के हिसाब से करवाएं।

घर बनवाते समय उत्तर व पूर्व दिशा में सब से अधिक खुला स्थान होना चाहिए।

घर में खुली छत भी पूर्व एवं उत्तर दिशा में रखनी चाहिए।

दो मंजिला भवन बनाते समय दक्षिण व पश्चिम की अपेक्षा पूर्व और उत्तर की तरफ भवन की ऊंचाई कम होनी चाहिए।

फर्श का लैवल सड़क से डेढ़ से ढाई फुट हो।

रोशनी व ताजा हवा के लिए खिड़कियों व दरवाजे का क्षेत्रफल कमरे के क्षेत्रफल का 25 प्रतिशत होना चाहिए।

खिड़कियों व रोशनदानों पर कम से कम डेढ़ फुट का प्रोजेक्शन होना चाहिए।

ड्राइंगरूम का आकार 12*18 फुट से लेकर 14*14 फुट तक हो सकता है। ड्राइंगरूम में बड़ी खिड़कियां होनी चाहिए।

सीलिंग को आकर्षक बनाने के लिए प्लास्टर ऑफ पेरिस का इस्तेमाल करवाएं।

बेडरूम का आकार 10*12 फुट से लेकर 14*16 तक होना चाहिए। ऊंचाई 9 से 12 फुट तक होनी चाहिए।

रसोईघर का आकार 7*9 से लेकर 10*12 फुट तक हो सकता है। रसोई की शेल्फ 33 इंच से ज्यादा ऊंची, चौड़ाई 24 इंच से कम न हो।

स्नानघर और शौचालय का क्षेत्रफल 16 वर्ग फुट से कम न हो, वहीं स्नानघर की चौड़ाई साढ़े 4 फुट व लम्बाई 6 फुट से कम न हो। अटैच्ड बाथरूम की स्थिति में क्षेत्रफल 36 वर्ग फुट यानी 6*6 फुट होना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जब घर बनवाएं