DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐसे बनाएं रिज्यूमे

जरूरी नहीं कि आप अपना रिज्यूमे किसी विशेषज्ञ से ही बनवाएं। आप चाहें, तो कुछ खास बातें ध्यान में रखकर खुद ही अपना शानदार और मजबूत रिज्यूमे बना सकते हैं। मजबूत और औसत रिज्यूमे में अंतर होता है। दरअसल रिज्यूमे का प्रारूप और प्रस्तुति ही तय करते हैं कि इसे पढ़ा जाएगा या नहीं। इसलिए रिज्यूमे हमेशा मजबूत होना चाहिए। अगर आपके पास अपने क्षेत्र का खासा तजुर्बा है, तो आपको क्रोनोलॉजिकल रिज्यूमे बनाना चाहिए, और यदि नए प्रकार का काम करना चाहते हैं, तो फंक्शनल या कंबिनेशन रिज्यूमे।

असरदार रिज्यूमे बनाने के लिए ध्यान रखने वाली खास बातें ये हैं:

वर्तनी और भाषा की गलती न करें। चारों तरफ पर्याप्त खाली स्थान छोड़ें। दो से अधिक तरह के फॉण्ट का इस्तेमाल न करें। अपना नाम, फोन नंबर और ईमेल एड्रैस जरूर दें।

रिज्यूमे में अब तक की पेशेवर उपलब्धियों और जिम्मेदारियों का जिक्र जरूर करें। मसलन उपलब्धियों में ये बता सकते हैं कि आपने पिछली कंपनी में कितनी बिक्री बढ़ाई, कितना खर्च बचाया, कैसे उत्पादकता बढ़ाई, कौन-कौन से नए सिस्टम शुरू किए, कौन से नए प्रोडक्ट लांच किए, निवेश संबंधी समस्या सुलझाई, किसी कमेटी में रहे, नया प्लान बनाकर दिया, उसका कैसा रिस्पांस मिला, कोई अवार्ड मिला वगैरह।

रिज्यूमे में अंग्रेजी शब्दों- आई, मी, माय का प्रयोग न करें। इसी प्रकार ‘रिस्पांसिबल फॉर’, ‘ड्यूटीज इन्क्लूडिड’ जैसे जुमलों से भी बचें।

अपनी फालतू व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि उम्र, सेहत, जाति, वैवाहिक स्थिति या पारिवारिक हैसियत रिज्यूमे में देंगे, तो नियोक्ता पक्षपात के आरोपों के डर से आपका रिज्यूमे फेंक देगा।

रिज्यूमे में अपना फोटो, पिछली नौकरी छोड़ने की वजह और अपेक्षित वेतन बताना भी बचकानी हरकत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऐसे बनाएं रिज्यूमे