DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आय, जाति प्रमाणपत्र न मिलने पर फूटा गुस्सा

आय, जाति और अधिवास प्रमाणपत्र बनाने में की जा रही धांधली से क्षुब्ध लोगों का गुस्सा सोमवार को फूट पड़ा। उग्र छात्र एवं अभिभावकों ने बदलापुर में तहसील के सामने राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया जिससे वाराणसी-लखनऊ मार्ग पर पांच-छह किलोमीटर तक वाहनों की लाइन लग गयी। भीड़ ने तहसील का कामकाज भी बाधित हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने लाठियां भांजकर भीड़ को खदेड़ दिया। लाठीचार्ज के दौरान हुई भगदड़ में कुछ छात्र घायल हो गये। इसी तरह शाहंगज में भी आक्रोशित भीड़ ने तहसील के कार्यालयों में ताला बंद कर दिया।   

हिन्दुस्तान संवाद बदलापुर के अनुसार आय, जाति और अधिवास प्रमाणपत्र न मिलने से नाराज युवकों व अभिभावकों ने चक्काजाम कर दिया जिससे बदलापुर के चारों मार्गो घनश्यामपुर, सिंगरामऊ, महराजगंज और धनियामऊ पर आवागमन पूरी तरह ठप हो गया। चक्काजाम में अधिवक्ता एवं विभिन्न राजनीतिक दलों के लोग भी शामिल हो गये। सुरक्षा के लिए तहसील के मेन गेट में ताला जड़ दिया गया। छात्रों का आरोप है कि अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही के कारण प्रमाणपत्र समय से नहीं मिलने से वे काउंसिलिंग में भाग नहीं ले सके।
शाम पौने चार बजे बख्सा पुलिस ने लाठी भांजकर भीड़ को खदेड़ा जिसमें नरेंद्र बिंद, सुजीत सिंह आदि छात्र घायल हो गए। छात्रों पर लाठीचार्ज के विरोध में अधिवक्ताओं ने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व हूबलाल और अपर पुलिस अधीक्षक राहुल राज को तहसील परिसर में नहीं घुसने दिया। तहसील सभाकक्ष में घंटों चली वार्ता के बाद एडीएम और एएसपी ने छात्रों पर लाठीचार्ज के दोषियों पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। इस दौरान एसओ सिंगरामऊ आलमगीर, खुटहन अनिल सिंह, बख्सा कमलेश सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौजूद थे।

उधर हिन्दुस्तान संवाद शाहगंज के अनुसार तहसील कार्यालय में जाति, अधिवास और आय प्रमाणपत्र के हजारों आवेदकों द्वारा जमा किये गये शुल्क की रकम लेकर ठेकेदार के कर्मचारी भाग निकले। सोमवार को दिन में दस बजे छात्रों को जब प्रमाणपत्र नहीं मिला तो वे क्षुब्ध हो गये और तहसील के सभी अनुभागों में ताला जड़कर प्रदर्शन करने लगे। एसडीएम उमाकांत त्रिपाठी ने छात्रों को वार्ता के लिए बुलाया और उनसे कहा कि कागजात फिर से बनवा कर जमा करें उनसे शुल्क नहीं लिया जाएगा। आश्वासन के बाद अपराह्न् दो बजे के बाद तहसील की स्थिति सामान्य हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आय, जाति प्रमाणपत्र न मिलने पर फूटा गुस्सा