DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंदी से निकलने की गति धीमी है: क्रुगमैन

मंदी से निकलने की गति धीमी है: क्रुगमैन

 नोबेल पुरस्कार विजेता पॉल क्रुगमैन ने सोमवार को कहा कि विश्व ने दूसरी महामंदी को टाल दिया है पर वैश्विक अर्थव्यवस्था को हाल के आर्थिक झटकों से पूरी तरह से उबरने में कम से कम दो साल का वक्त लगेगा।

क्रुगमैन ने व्यवसायियों के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में अपने भाषण में कहा कि वित्तीय संकट का सबसे बुरा दौर खत्म हो चुका है। उनकी राय में विश्व अब नरमी के खिंचने की उस स्थिति का सामना कर रहा है जैसा कि जापान को 1990 के दशक में करना पड़ा था जिसे लास्ट डेकेड (व्यर्थ गया दशक) के तौर पर जाना जाता है।

अमेरिका के पिंसटन विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर क्रुगमैन ने कहा कि हम इससे बाहर कैसे निकलें मुझे लगता है कि तकनीकी तौर पर इसका जवाब होगा, भगवान ही जानता है। हमारे पास आदर्शो की कमी है।

क्रुगमैन ने पिछले दिनों कहा था जब तक हमें निर्यात करने के लिए दूसरा ग्रह नहीं मिलता वैश्विक आर्थिक हालात में सुधार निर्यात केंद्रित नहीं हो सकता। इसका मतलब है कि समस्या गंभीर है।

उपभोक्ता खर्च, कारोबारी निवेश और आवास क्षेत्र में उछाल जैसे अन्य संभावित समाधान इस बार अमेरिका या वैश्विक अर्थव्यवस्था को गति नहीं देंगे। कुर्गमैन ने कहा लगता है कि हमने ग्रेट डिप्रेशन 2.0 टाल दिया है लेकिन मुझे लगता है कि आर्थिक हालात में पूरी तरह से सुधार कम से कम दो साल या इससे ज्यादा समय लगेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मंदी से निकलने की गति धीमी है: क्रुगमैन