DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू से छठी मौत, कुल 864 मामले

स्वाइन फ्लू से छठी मौत, कुल 864 मामले

स्वाइन फ्लू से चेन्नई में सोमवार को एक चार साल के बालक की और पुणे में 35 वर्षीय एक आयुर्वेदिक डॉक्टर की मौत हो गई है। इसके साथ ही इस जानलेवा वायरस के संक्रमण से कुल मृतक संख्या छह पहुंच गई है जबकि इस बीमारी के पाजिटिव मामलों की संख्या 864 हो गई है।

चेन्नई में स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि चार साल के बच्चे बी संजय को गुर्दे तथा जिगर संबंधी समस्याओं के चलते एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उसमें स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो गई थी। बच्चे की सोमवार सुबह मत्यु हो गई। यह बच्चा दमा से भी पीड़ित था। तमिलनाडु में यह स्वाइन फ्लू से मौत का पहला मामला है।

तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव वीके सुब्बुराज ने बताया कि बच्चे की हालत अत्यंत गंभीर थी। वह दमा से पीड़ित था और विभिन्न समस्याओं के कारण उसे एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल ले जाया जा रहा था। आखिरकार गुर्दे संबंधी समस्या के कारण उसे इस अस्पताल में लाया गया। स्वाइन फ्लू की जांच करने पर नतीजा पाजिटिव पाया गया।

जन स्वास्थ्य निदेशक एस इलांगो ने बताया कि यह बच्चा जीवन रक्षक प्रणाली पर था और उसके शरीर के कई अंग काम करना बंद कर चुके थे जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई।
 
पुणे में एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि आयुर्वेदिक डाक्टर बाबासाहिब माने की सोमवार सुबह सासून अस्पताल में मत्यु हो गई। एच1एन1 वायरस के संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित पुणे में यह स्वाइन फ्लू से मौत का तीसरा मामला है।

अधिकारी ने बताया कि माने कुछ समय से बीमार थे। कुछ दिनों पहले ही उनके बलगम में रक्त पाया गया था। सोमवार को हुई इन दो मौतों के साथ ही देश में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या बढ़ कर छह हो गई है।

एच1एन1 वायरस के लगातार बढते संक्रमण को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को कैबिनेट सचिव के एम चंद्रशेखर से इस बारे में विचार विमर्श किया। इस बैठक में स्वास्थ्य सचिव नरेश दयाल भी मौजूद थे। बैठक में इस रोग के नियंत्रण के लिए उठाए जाने वाले कदमों के बारे में भी चर्चा की गई।

देश में इस इस रोग के तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के बीच रविवार को प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने आजाद से बातचीत कर स्थिति का जायजा लिया और इस रोग का प्रसार रोकने के लिए राज्यों के साथ समन्वय बनाने को कहा। प्रधानमंत्री ने आजाद से यह भी कहा कि इस रोग के संबंध में जो गलत अफवाहें फैलायी जा रही है उनको तुरंत बंद किया जाए और अधिक से अधिक लोगों को इस रोग के प्रति जागरूक किया जाना चाहिए।

उधर, ठाणे में एक छह वर्षीय बालिका में स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद उसे मुंबई के एक उपनगरीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। निगम अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि एके जोशी इंग्लिश स्कूल की छात्रा प्रणीता कुलकर्णी को रविवार रात फ्लू जैसे लक्षणों के बाद कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसकी जांच रिपोर्ट में फ्लू की पुष्टि हुई।

सूत्रों ने कहा कि बच्ची में रोग की पुष्टि के बाद जिले में सभी शैक्षणिक संस्थानों ने एक सप्ताह के बंद की घोषणा की है। बेंगलूर में भी इस रोग के वायरस के फैलने के चलते एक निजी स्कूल ने सोमवार को अपनी प्राथमिक शाखा को एक हफ्ते तक बंद रखने की घोषणा की।

स्कूल सूत्रों ने कहा कि पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के पुणे में सभी स्कूलों के बंद हो जाने के बाद यह कदम उठाया गया है। भारत में स्वाइन फ्लू से पहली मौत पुणे में तीन अगस्त को हुई जब इस बीमारी के संक्रमण ने 14 वर्षीय रिदा शेख को मौत की नींद सुला दिया।

शनिवार को मुंबई में 53 वर्षीय फहमीदा पानवाला और पुणे में 42 वर्षीय शिक्षक संजय तुकाराम काकरे की स्वाइन फ्लू से मत्यु हुई। रविवार को अहमदाबाद में 43 वर्षीय अनिवासी भारतीय प्रवीण पटेल ने इस बीमारी के कारण अंतिम सांस ली। देश भर में रविवार को स्वाइन फ्लू के 82 नए मामलों की खबर थी जिसे मिला कर इस बीमारी के पाजिटिव मामलों की संख्या 864 हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू से छठी मौत, कुल 864 मामले