DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेटे की भी बर्खास्तगी के बाद विक्षिप्त हो गया था

नौकरी से बर्खास्त होने के बाद अपना मानसिक संतुलन खो चुके एक शिक्षक ने रविवार को खुद को लाइसेंसी बन्दूक से गोली मारकर जान दे दी। दिल दहला देने वाली यह घटना नगर के प्रकाशनगर मुहल्ले में हुई। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

नन्दगंज थाना क्षेत्र के मुड़वल गांव निवासी धर्मदेव यादव (55) वाराणसी जिले के खोजवां क्षेत्र स्थित एक इंटर कालेज में अध्यापक थे। कुछ वर्ष पहले विभागीय जांच के दौरान उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। इस बात का शिक्षक के दिल-दिमाग पर इतना गहरा असर पड़ा कि वह मानसिक संतुलन खो बैठे। मामला तब और अधिक गंभीर हो गया जब उनका पुत्र जो उत्तर प्रदेश पुलिस में कांस्टेबल पद पर भर्ती हुआ था, वह भी बर्खास्त हो गया। बाद में पुत्र तो बहाल हो गया, लेकिन शिक्षक की मानसिक स्थिति और अधिक बिगड़ गयी।

रविवार की सुबह शिक्षक ने अपनी लाइसेंसी बन्दूक से खुद को गोली मार ली। घटना से इलाके में सनसनी फैल गयी। परिवार के सदस्य चीख-चीख कर रोने लगे। घटना की जानकारी मृतक के भतीजे प्रदीप ने अपने गांव में और पुलिस को दी। शहर कोतवाल डीपी सिंह भी घटनास्थल पर पहुंचे और छानबीन की। मृतक के दो पुत्र हैं। बड़ा पुत्र अभिषेक यादव वाराणसी में सिपाही के पद पर तैनात है और छोटा पुत्र विपिन पीजी कालेज में बीए का छात्र है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बर्खास्त शिक्षक ने खुद को गोली से उड़ाया