DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महँगाई और बढ़ने की घोषणा ने कलई खोली

समाजवादी पार्टी ने प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह के उस बयान पर हैरानी जताई है जिसमें उन्होंने कहा है कि अभी महँगाई और बढ़ेगी। जनता महँगाई से कराह रही है लेकिन न तो केन्द्र और न ही राज्य सरकार इस मामले में संवेदनशील है। ऐसा लगता है जैसे उनकी शह पर ही यह साजिश चल रही है। इसमें जमाखोर और सरकारी अफसर सब मिले हुए हैं।

सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने रविवार को जारी बयान में कहा कि यह विचित्र बात है कि देश का प्रधानमंत्री ही संकेत दे रहा है कि चालू वित्तीय वर्ष में कम उपज के कारण अगले महीनों में महँगाई और बढ़ेगी।  केन्द्रीय कृषि मंत्री शरद पवार कह रहे हैं कि सटोरियों ने दालों के दाम बढ़ा दिए हैं। प्रधानमंत्री ने यह भी बताया है कि राज्य से सूखे के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है।

सपा प्रवक्ता ने कहा कि देश के मुश्किल हालात से पता चलता है कि अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री का अर्थशास्त्र फेल हो गया है। उनके उदारवाद की राहें पूँजीपतियों के घरानों तक ही जाती हैं। आम जनता के लिए सिर्फ तकलीफे ही हैं। इसी तरह यूपी सरकार ने काला बाजारियों और सट्टेबाजों को खुली छूट दे रखी है। मिलावटखोरों को संरक्षण तो बसपा विधायक और काबीना स्तर के मंत्री तक दे रहे हैं।

सूखा की मार और कर्ज की वजह से किसान आत्महत्या कर रहे हैं। पशुओं के चारे की गंभीर समस्या है। लेकिन मायावती सरकार की प्राथमिकता पार्क, स्मारक और पत्थर के हाथी के अलावा खुद मायावती की प्रतिमाओं की स्थापना है। सपा प्रवक्ता ने कहा कि महँगाई की समस्या कांग्रेस की नीतियों से नहीं दूर हो सकती है। इसके लिए श्री मुलायम सिंह यादव की दाम बांधो नीति ही कारगर हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीएम मनमोहन का अर्थशास्त्र फेल : सपा