DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नटवर तेरे रूप अनेक

शहर के एक विशाल हॉल में शोक सभा का आयोजन था। मंच पर तीन कुर्सियां थीं। एक नकाबपोश अध्यक्षता कर रहा था। एक बेहद, परिचित, पहचानी शक्ल बतौर प्रमुख अतिथि उपस्थित थीं। उसका नाम सुर्खियों में और फोटू टीवी पर छाई रहती है। ऐसे लोग अक्सर परदे के पीछे की ताकत हैं। इसे, उस मृत महान हस्ती का अभी भी जीवित चुम्बकीय आकर्षण ही कहेंगे, जिसने इन्हें खुले आम सबके सामने आने को विवश कर दिया। तीसरी कुर्सी पर एक धनपशु इसका संयोजन-संचालक विराजमान था। आज की शोक सभा उसी की प्रबंधन क्षमता से आयोजित है। यों तो विविध रोल निभाने का यह विशेषज्ञ है, पर आज उसने दो ही चुने हैं।

ज्यादातर शोक सभाएं मृत महापुरुष के फोटू पर फूलों की बर्बादी कर प्रारंभ होतीं है। यहां दिवंगत की फोटू तो है भी पर संयोजक के निर्देशानुसार श्रद्धालु, शुभचिंतक, भक्त उस पर सौ-सौ रुपए की मालाएं चढ़ा रहे थे। संयोजक ने स्वागत भाषण में ही घोषणा कर दी थी कि स्वर्गीय महामानव की पुण्य स्मृति में एक तकनीकी शिक्षण संस्था की स्थापना की जएगी जिससे कि उनकी पेशेवर दक्षता, योग्यता, क्षमता और कुशलता की

परम्परा को न केवल आगे बढ़ाया जा सके, बल्कि उनकी उपलब्धि के मानक भविष्य में कोई तोड़ भी सके। संयोजक ने इसी संदर्भ में कहा- ‘गांधी जैसे युग पुरुषों का जन्म सदियों में एक बार होता है। हमें विश्वास है। इसके पश्चात मुख्य अतिथि ने अपने उद्बोधन में माननीय लाल को सबसे बड़ा कलाकार बताया। उन्होंने कहा कि जब मीडिया उनकी तुलना ऐसी हिमालियन हस्ती से करता है तो वह लाज-शर्म से गड़ जाते हैं। कहां वह गगनचुंबी शिखर, कहां यह कूड़े के ढेर की टोकरी। उन्होंने सीने पर हाथ रख कर कहा, ‘यह सच मैं पूरी विनम्रता से बार-बार दोहराता हूं। कहां वह ऊंचा आकाश, कहां मैं रेतीली जमीन।’

अध्यक्ष ने सभा का समापन इस ऐलान के साथ किया कि श्रीमान नटवर लाल महान का महाप्रयाण कुछ दिनों पूर्व कानपुर में हुआ है। आज ठगी देश की सबसे बड़ी जरूरत है। नटवर लाल संस्थान इसमें सबको पारंगत करेगा। जब जाते वक्त सहभागियों ने अपने-अपने नकाब उल्टे तो पत्रकारों ने दांतों तले उंगली दबा ली। खुलासा हुआ बड़े-बड़े राजनेता, उद्योगपति, व्यापारी, आला अफसर, नामी ज्योतिषी आदि सब नटवर लाल के मुरीदों में ही नहीं, अनुयाइयों में शामिल हैं। ठगी इनके व्यक्तित्व का विशिष्ट गुण है और कामयाबी का राज।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नटवर तेरे रूप अनेक