DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पावर कट में सुधार पर रेगुलेटरी कमेटी करेगी चर्चा

ग्रेटर नोएडा में चरमराई विद्युत आपूर्ति में सुधार लाने और विकसित हो रहे सेक्टरों (खास कर यमुना अथॉरिटी के) में नॉन स्टाप पावर सप्लाई के लिए पावर प्लांट लगाने की कवायद तेज होने लगी है। चरमराई विद्युत आपूर्ति में सुधार लाने को लेकर पावर रेगुलेटरी कमेटी की यमुना और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के साथ सोमवार को लखनऊ में एक अहम बैठक होगी।

बैठक में यमुना और ग्रेटर नोएडा को नान स्टॉप पावर सप्लाई के लिए प्रस्तावित पावर प्लांट को पटरी पर लाने की रणनीति तय की जाएगी। पावर रेगुलेशन और सप्लाई को लेकर हो रही इस बैठक में कुछ ठोस नतीजे निकलने के आसार बन रहे हैं।
पहले फेज में जेवर तक विकसित हो रहे 46 हजार हेक्टेयर में पावर सप्लाई की जबावदेही यूपीपीसीएल को सौंपी गई है। यूपीपीसीएल पहले से ही नोएडा व गाजियाबाद में पावर सप्लाई को लेकर ओवर लोड हो चुका है। ऐसे में नोएडा-ग्रेटर नोएडा और विकसित होने वाले यमुना में नॉन स्टॉप पावर सप्लाई के लिए एक अलग पावर प्लांट लगाने की तैयारी चल रही है।

ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी के चेयरमैन ललित श्रीवास्तव के अनुसार यमुना जोन में वाटर,सीवर और ड्रेनेज के लिए आईसीए कंपनी से प्लानिंग तैयार कराई गई है जबकि रोड और सर्कुलेशन (ट्रैफिक फ्लो) की डिटेल प्रोजेक्ट मैनहर्ट कंपनी ने तैयार किया है। यमुना जोन में पावर सप्लाई की जबावदेही यूपी पावर कारपोरेशन लिमिटेड को सौंपी गई है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में इन दिनों चल रहे जबरदस्त पावर कट और विकसित हो रहे सेक्टरों में पावर सप्लाई के लिहाज से पावर रेगुलेटर कमेटी की बैठक से काफी उम्मीदें जुड़ी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यमुना-ग्रेनो अथॉरिटी में पावर पर लखनऊ में बैठक