DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 वाहन चोर धरे, 16 गाड़ियां बरामद

दक्षिण जिला पुलिस ने वाहन चोरी के मामलों में अर्ध शतक लगाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश कर पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। ये सभी वाहन चोरी करने से पूर्व पुराना किला स्थित भैरव मंदिर जाते थे। पुलिस ने इनकी निशानदेही पर 14 बाइक और दो कार बरामद की हैं। इनके पास से 120 नकली चाबियां और फर्जी कागजात भी बरामद हुए हैं। यह गिरोह कालकाजी, मालवीय नगर, सरोजनी नगर, भजनपुरा, गाजियाबाद और गुड़गांव में भी वाहन चोरी की वारदात कर चुका है।

पुलिस के मुताबिक हौजखास पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि एक गिरोह इन दिनों दक्षिण जिले में वाहन चोरी की वारदातों में सक्रिय है। सूचना पर एसीपी मेहर सिंह की देखरेख में हौजखास के थानाध्यक्ष अतुल कुमार, इंस्पेक्टर वीरेन्द्र जैन ने गुप्त सूचना के आधार पर अरविंदो मार्केट के पास वाहनों की जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान पुलिस ने बाइक सवार दो लड़कों को रोककर जब बाइक के कागज मांगे तो उन्होंने पूछताछ में बताया कि यह बाइक उन्होंने कालकाजी इलाके से चोरी की थी।

दोनों की पहचान रवि कुमार (19) और पवन कुमार(19) के रूप में की गई है। इनसे पूछताछ के बाद पुलिस ने साथी जितेन्द्र उर्फ जित्ते(19) और नवीन कुमार(18) को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने चारों के पास से दस बाइक बरामद की हैं। गिरोह के सदस्य चोरी की बाइक मेवात निवासी हनीफ को बेच देते थे जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। इनके पांचवें साथी दिनेश कुमार (25) को मालवीर नगर के थानाध्यक्ष जरनैल सिंह की टीम ने चोरी की स्विफ्ट कार समेत चिराग दिल्ली से धर लिया। इसकी निशानदेही पर चार बाइक और एक मारुति कार भी बरामद की गई है।

जितेन्द्र गिरोह का मास्टर माइंड था और वह बाइक मैकेनिक भी है। वह गोकलपुरी में चेन झपटमारी के मामले में लिप्त रह चुका है। नवीन कार व बाइक दोनों का काम जानता था। चोरी से पूर्व अलग-अलग बाइक खड़ी कर ये आपस में बातचीत करते थे और लोगों की नजर हटते ही बाइक चोरी कर फरार हो जाते थे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:5 वाहन चोर धरे, 16 गाड़ियां बरामद