DA Image
22 फरवरी, 2020|12:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाथ-पैर बांधकर दिन भर कड़ाके की धूप में छोड़ा अर्धविक्षिप्त को

मां को कैची से घायल करने वाले अर्धविक्षिप्त युवक राम विलास भंडारी उर्फ मुसवा भंडारी को पुलिस ने बेहरमी से पिटाई कर दी। यह घटना सुबह के करीब 9 बजे तब हुई जब अर्धविक्षिप्त इलाज के लिए दुमका सदर अस्पताल में भर्ती था। पुलिस ने बर्बरता की हद पारकर अर्धविक्षिप्त युवक के पैर एवं हाथ को अस्पताल के बरामदे के ग्रील से बांधकर उसे कड़ाके की धूप में छोड़ दिया।

अर्धविक्षिप्त युवक दर्द से कराहता रहा लेकिन उसकी मदद करने कोई आगे नहीं बढ़ा। पुलिस प्रशासन एवं स्थानीय लोग मूकदर्शक बने रहे। दिन भर युवक कड़ाके की धूप में हाथ-पैर बंधा अस्पताल में पड़ा रहा। प्रत्यक्षदर्शियों से पता चला है कि अर्धविक्षिप्त राम विलास भंडारी रामगढ़ के सुसनिया गांव का रहने वाला है।

शुक्रवार की शाम अर्धविक्षिप्त रामविलास दुमका प्रखंड के दुमा चौक के निकट रविन्द्र मंडल नाम के एक दुकानदार से उलझ गया था। उसने दुकानदार की जमकर पिटाई की। दुकानदार के बेहरमी से पिटाई करने पर आसपास के ग्रामीण उत्तेजित होकर रामविलास की भी पिटाई कर दी और मुफसिल थाना के पुलिस को सुपुर्द कर दिया। पुलिस ने अर्धविक्षिप्त रामविलास को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया।

शुक्रवार की रात अर्धविक्षिप्त ने अस्पताल में भर्ती एक महिला मरीज के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। इस घटना से अस्पताल के मरीजों के बीच अफरा-तफरी मच गयी। शनिवार को सुबह के करीब 9 बजे रामविलास ने अपनी मां कटकी को ही कैची से प्रहार कर बुरी तरह से जख्मी कर दिया। बीचबचाव के दौरान अर्धविक्षिप्त ने एक सिपाही एवं चौकीदार को दांत काट लिया। रामविलास की मां कटकी देवी का इलाज अस्पताल के चिकित्सकों ने की।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पुलिस ने अर्धविक्षिप्त युवक की बेहरमी से की पिटाई