class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्याभिचार बढ़ाने का हो रहा है षडयंत्र: रामदेव

व्याभिचार बढ़ाने का हो रहा है षडयंत्र: रामदेव

योग गुरू स्वामी रामदेव ने शनिवार को कहा कि आज टेलीविजन चैनलों एवं अन्य माध्यमों के जरिए विवाहेतर यौन संबंधों तथा अन्य दुराचरणों एवं व्यभिचारों को समाज में मान्यता दिलाकर देश का नैतिक एवं चारित्रिक पतन करने का अत्यंत घृणित षडयन्त्र हो रहा है।

रामदेव ने कहा कि आज देश के चरित्र का पतन करने की कोशिश हो रही है लेकिन सब कुछ दांव पर लगाकर अगर देश के चरित्र को बचाना पड़े तो ऐसा किया जाना चाहिए क्योंकि तभी भारत को दुनिया की सबसे बड़ी अध्यात्मिक, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक महाशक्ति बनाया जा सकता है।

अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को लेकर अपने पूर्व के बयान को स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि चरित्रवान अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को उनकी बातों से आहत नहीं होना चाहिए क्योंकि उन्होंने तो यह कहा था कि चरित्रवान व्यक्ति चाहे वे कोई भी हों हमारे आदर्श हैं।

उन्होंने कुछ अखबारों में शनिवार को प्रकाशित कुछ अभिनेत्रियों के बयानों पर कहा कि चरित्रहीन व्यक्ति चाहे वह योगी, संन्यासी, अभिनेता या अभिनेत्री या किसी कार्य क्षेत्र का शीर्ष व्यक्ति ही क्यों नहीं हो, हमारे आदर्श नहीं हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि भारत में युगों-युगों से चरित्र को सबसे बड़ी सम्पत्ति माना जाता रहा है तथा चरित्रहीनता, अनैतिकता, अपसंस्कृति और विवाहेतर यौन संबंधों को घृणित काम एवं महापाप माना गया है।

उन्होंने कहा कि आज हमारे देश में चरित्रहीनता के खिलाफ राष्ट्रीय आंदोलन चलाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वह उन लोगों का अत्यंत सम्मान करते हैं जिन्होंने चारित्रिक पतन के मौजूदा दौर में भी आदर्श के उच्च मानदंड स्थापित किए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्याभिचार बढ़ाने का हो रहा है षडयंत्र: रामदेव