DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या 200 पार

राजधानी में शुक्रवार को 13 नए मामले आए हैं। इसके साथ ही दिल्ली में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़कर 201 हो गई है। इनमें से 170 मरीजों की इलाज के बाद अस्पतालों से छुट्टी कर दी गई है। शुक्रवार को जिन 13 मामलों की पुष्टि की गई है उनमें से तीन डाक्टर और दो आईआईटी के छात्र हैं।

तीन डाक्टर डा. राम मनोहर लोहिया, सफदरजंग और जीटीबी अस्पताल में भर्ती हैं। किसी स्कूली छात्र के स्वाइन फ्लू से पीड़ित होने की सूचना नहीं आई है। संस्कृति स्कूल की जिस एक छात्र को स्वाइन फ्लू होने की संभावना जताई गई थी उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

राजधानी में स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए शुक्रवार को दिन भर काफी हलचल मची रही। स्वास्थ्य मंत्री प्रो. किरण वालिया ने तमाम अस्पताल के मेडिकल अधीक्षक की बैठक बुलाई और स्वाइन फ्लू पर विस्तार से चर्चा की। बैठक के बाद उन्होंने तमाम स्कूलों और शैक्षिक संस्थानों को दिशा निर्देश जारी किए।

दिशा निर्देश में कहा गया है कि यदि किसी बच्चे या स्टाफ में स्वाइन फ्लू जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो उनको 7 से 10 दिनों तक घर में रहने दिया जाए। ऐसे बच्चे या कर्मचारी से किसी प्रकार के मेडिकल प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए दबाव नहीं डाला जाए। उन्होंने स्कूलों से कहा कि स्कूल बंद करने के बारे में सरकार की ओर से कोई निर्देश नहीं है।

राजधानी में स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामले को देखते हुए मरीजों के सैम्पल कलेक्शन के लिए 11 अस्पतालों का चयन किया गया है। अब तक सिर्फ तीन अस्पताल- डॉ. राम मनोहर लोहिया, एलएनजेपी व जीटीबी अस्पताल में सैम्पल एकत्र किए जा रहे थे। इसके साथ अब तीन केंद्रों में सैम्पल की जांच की जाएगी जिससे स्वाइन फ्लू की पुष्टि की जाएगी।

एनआईसीडी के अलावा अब एम्स व पटेल चेस्ट संस्थान में भी सैम्पल की जांच की जाएगी। दिल्ली सरकार का मानना है कि राजधानी में स्वाइन फ्लू पूरी तरह नियंत्रण में है और फिलहाल इसके लिए अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाने की जरूरत नहीं है। वैसे स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामले के कारण स्कूलों में पढ़ाई चौपट हो गई है और बच्चे व शिक्षक इसको लेकर काफी भयभीत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या 200 पार