DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिर कौन हैं भाईजी?

--कहां हैं डाक्टर का कंपाउंडर
--दिल्ली, मेरठ-मुजफ्फरनगर के बीच में छिपाकर रखा डाक्टर को
--पल-पल बदलते रहे किडनैपर अपनी लोकेशन

डाक्टर केएम सिंह की सकुशल वापसी के बाद पुलिस अब भाईजी की खोजबीन में जुट गई है। उसके लिए सबसे बड़ी चुनौती किडनैपरों को पकड़ने की है। लेकिन अब तक पुलिस को किडनैपरों के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल सकी है। हालांकि इस पूरे एपिसोड में एक सवाल यह सामने आया कि आखिर किडनैपरों में भाईजी कौन हैं,जिसे डाक्टर की रिहाई के बाद उसके गुर्गो ने फोन पर संबोधित करते हुए काम यानि फिरौती मिलने की बात बताई। साथ ही डाक्टर को उसके निर्देश के बाद रिहा कर दिया गया।


इतना ही नहीं किसके जरिये किडनैपरों को डाक्टर और उसके परिचितों की प्रत्येक गतिविधि की जानकारी मिल रही थी,यह भी पुलिस के लिए एक बड़ा सवाल है। क्योंकि फिरौती की रकम दिये जाने से पूर्व किडनैपर डाक्टर के परिजनों को पल-पल निर्देश दे रहे थे। मेरठ-रोटा रोड तक किडनैपरों के निर्देश के बाद ही डाक्टर के परिजन पहुंचने में सफल हुए।


सूत्रों के अनुसार किडनैपरों की संख्या चार या उससे अधिक बताई गई है। पल-पल स्थान बदलकर फोन करने वाले किडनैपरों में से एक  स्थानीय बोली बोल रहा था। डाक्टर की किडनैपिंग के बाद से उनका कंपाउंडर भी गायब है। जिसके बारे में न तो डाक्टर के परिजनों को कुछ मालूम है और पुलिस भी कुछ बोल पाने की स्थिति में नजर नहीं आ रही है। वैसे माना जा रहा है कि किडनैपर दिल्ली,मेरठ,गाजियाबाद,मुजफ्फरनगर के बीच में ही अपनी लोकेशन बदलते रहे। इसी स्थान पर उन्होंने डाक्टर को छिपाकर भी रखा। हालांकि पुलिस अब तक इस बारे में कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं।

एसएसपी अखिल कुमार के अनुसार डाक्टर की किडनैपिंग करने वालों को जल्द ही गिरफ्त में लिया जाएगा। जिसके लिए पुलिस की टीमें भी गठित की गई हैं।

घबराइये नहीं भाभीजी,डाक्टर साहब को खरोंच भी आई तो पैसे वापस

किडनैपरों की धमकी भरी कॉल के बीच उन्होंने डाक्टर की पत्नी श्रीमती रेखा सिंह को ढांढस भी बंधाई। फिरौती की रकम तय होने के बाद किडनैपरों ने मजाकिया लहजे में कहा कि घबराइये नहीं भाभीजी,यदि डाक्टर साहब को खरोंच भी आई तो सारे रुपये वापस कर देंगे।


नहीं पकड़े किडनैपर तो होगी मेडीकल स्ट्राइक ग्यारह को शुक्रवार को पुलिस और डाक्टरों की संयुक्त कांफ्रेंस में आईएमए की ओर से दावा किया गया कि यदि पांच दिन के भीतर पुलिस ने किडनैपरों को नहीं पकड़ा तो ग्यारह अगस्त को गाजियाबाद में मेडीकल स्ट्राइक की जाएगी। जिसके जरिये डाक्टर अपना विरोध दर्ज कराएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आखिर कौन हैं भाईजी?