DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल से एटीएम दे गया जवाब

दो दिन से जारी बैंकों की हड़ताल से वर्ल्ड क्लास सिटी में करोड़ों का कारोबार चौपट हो गया है। बैंकों से पैसा न निकलने से कारोबारी इधर उधर भटकते फिर रहे हैं। शहर के एटीएम पर सुबह से ही लोगों की लंबी लाइने लगी थी। दो घंटे बाद एटीएम भी जवाब दे गया। 7 तारीख को ज्यादातर कंपनियों में कर्मचरियों को वेतन बांटने का दिन होता है

बैंक हड़ताल होने के कारण कर्मचारियों को वेतन भी नहीं बांटा जा सका। करीब 55 हजार कर्मचारी वेतन मिलने की उम्मीद में पूरे दिन लगे रहे। लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी। केनरा बैंक के सहायक प्रबंधक एलपी गुप्ता का कहना है कि दो दिन बैंक हड़ताल से करीब ढाई सौ करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित हो चुका है। कुल मिलाकर हड़ताल के कारण पांच हजार करोड़ रु पए का कारोबार प्रभावित होगा। ग्रेटर नोएडा, दादरी , जेवर में रजिस्ट्री विभाग में स्टांप डय़ूटी के पैसे जमा न होने से रजिस्ट्री का कामकाज ठप रहा।


तीनों जगह के रजिस्ट्रारों के  दफ्तर सूने पड़े रहे। दादरी एसडीएम सौम्य श्रीवास्तव का कहना है कि गुरुवार को वही रजिस्ट्री हो सकी जिनके स्टांप डय़ूटी के पैसे जमा थे। शुक्रवार को रजिस्ट्री का कार्य पूरी तरह से प्रभावित रहा। एसोसिएशन ऑफ ग्रेटर नोएडा इंडस्ट्री के अध्यक्ष सहदेव शर्मा का कहना है कि ग्रेटर नोएडा में बैंको की हड़ताल के चलते कई सौ करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ है। चेक क्लियर न होने से इसका सीधा असर उद्योगों पर पड़ा है।
एटीएम खाली


बैकों की हड़ताल के कारण शुक्रवार को दूसरे दिन सभी एटीएम में पैसा खत्म हो गया लेाग शहर में एटीएम ढूंढते फिरते रहे। कई एटीएम पर लंबी लाइने लगी रही। थक हार कर लोग निजी बैंकों के एटीएम का सहारा लेने की कोशिश की लेकिन वहां भी निराशा ही हाथ लगी। नोएडा में भी कई एटीएम खाली होने की खबर है। यहां लोग अपने परिचितों और साथियों से घर में रखे पैसे उधार लेकर काम चला रहे हैं। हड़ताल यदि मंगलवार तक खिंच गई तो ग्राहकों को भारी असुविधा हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड़ताल से एटीएम दे गया जवाब