DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांटी-बरौनी बिजलीघरों से उत्पादन शुरू

लंबी जद्दोजहद के बाद बरौनी और कांटी बिजलीघरों से उत्पादन शुरू हो गया है।  शुक्रवार को दोनों बिजलीघर एक साथ शुरू हुए। देर रात वहां से 30-35 मेगावाट उत्पादन होने लगा।

हालांकि कांटी बिजलीघर में उत्पादन बढ़ेगा, लेकिन कोयले की कमी के कारण बरौनी में उत्पादन की सीमा निर्धारित ही रहेगी। उधर केन्द्र से 988 मेगावाट बिजली आवंटन करने और पनबिजली परियोजनाओं से 12 मेगावाट उत्पादन के बाद सूबे में एक हजार मेगावाट बिजली की उपलब्धता रही। इनमें से रेलवे, नेपाल समेत तमाम अनिवार्य सेवाओं को 350 मेगावाट बिजली देने के बाद वितरण के लिए 650 मेगावाट बिजली मौजूद थी।

राजधानी पटना को 350 मेगावाट बिजली देने के बाद 300 मेगावाट में सूबे का काम चला। देर रात ग्रामीण क्षेत्रों को सात घंटे अबाध बिजली आपूर्ति के लिए राजधानी पटना समेत तमाम शहरी क्षेत्रों में घंटों लोड शेडिंग की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांटी-बरौनी बिजलीघरों से उत्पादन शुरू