DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रमुख अभियंता भी शामिल हुए धरने में

सिंचाई विभाग के बाढ़ खण्ड कुशीनगर में तैनात सहायक अभियंता मनोज कुमार सिंह की हत्या से क्षुब्ध विभागीय अभियंता, अधिकारी व कर्मचारी अब अपना आन्दोलन और तेज करेंगे। महासंघ की ओर से शुक्रवार को जारी बयान में चेतावनी दी गई है कि अगर तत्काल इंजीनियर मनोज सिंह के हत्यारों को तत्काल गिरफ्तार करके मुख्यमंत्री को भेजे गए मांगपत्र पर  कार्रवाई नहीं होती है तो 10 अगस्त को निर्णायक आन्दोलन छेड़ दिया जाएगा।

इस निर्णायक आन्दोलन के तहत सिंचाई सहित अन्य सभी अभियंत्रण विभागों में पूर्ण तालाबंदी और सोमवार को सिंचाई भवन में विभागीय मंत्री की बैठक का बहिष्कार की कार्रवाई प्रस्तावित है। इस पर शनिवार को महासंघ के तहत आने वाले सभी संगठनों की साझ बैठक में अंतिम निर्णय लिया जाएगा। इसी क्रम में शुक्रवार को यहाँ कैण्ट रोड स्थित सिंचाई मुख्यालय के मुख्यद्वार पर धरना दिया गया।

इस धरने में सिंचाई विभाग के तीनों प्रमुख अभियंताओं वी.के.बंसल, अरूण कुमार और अतर सिंह सहित विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। धरने को सम्बोधित करते हुए उ.प्र.इंजीनियर्स एसोसिएशन के महासचिव एस.एस.निरंजन ने कहा कि इंजीनियर मनोज सिंह हत्याकाण्ड में पुलिस कुचक्र रच रही है, इस घटना को इंजीनियरों की आपसी रंजिश करार देना गलत है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक राज्य अभियंत्रण सेवा के 16 इंजीनियरों की हत्या हो चुकी है। इंजीनियर मनोज गुप्ता और इंजीनियर मनोज सिंह की हाल की हत्याओं से यह साफ हो गया है कि ठेकेदारों को माफिया और राजनेताओं का प्रश्रय मिल रहा है और इस वजह से इंजीनियरों पर दबाव बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में देवरिया और गोण्डा के इंजीनियरों को माफिया से धमकियां मिलीं। ऐसे असुरक्षित माहौल में काम करना मुश्किल होता जा रहा है।

इस धरने को यूपी इंजीनियर्स एसो.के अध्यक्ष अख्तर अली फारूकी, सिंचाई विभाग के अभियंता संघ के अध्यक्ष कायम रजा रिजवी, सहायक अभियंता संघ के अध्यक्ष व महासचिव रजनीश प्रकाश चौधरी, प्रभात कुमार, कार्मिक महासंघ के अध्यक्ष एस.एस.लाल, कार्यवाहक अध्यक्ष आर.के.भाटिया, महासचिव आर.पी.उपाध्याय आदि ने भी सम्बोधित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंजीनियर हत्याकाण्ड के खिलाफ तेज होगा आंदोलन