DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंजीनियर हत्याकांड में एई व ठेकेदार गिरफ्तार

डीआईजी आनंद स्वरूप ने बताया कि इंजीनियर मनोज कुमार सिंह की हत्या में शामिल रहे सहायक अभियंता सिंचाई एके चौधरी व ठेकेदार पंकज शाही को गिरफ्तार कर लिया गया। अब शार्प शूटरों व इस हत्याकांड में शामिल अन्य लोगों की गिरफ्तारी की कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि भ्रष्टाचार की वजह से ही इंजीनियर की हत्या की गई। इस हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को डीआईजी ने पाँच हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। डीआईजी का कहना है कि वह दोनों आरोपितों का नार्को टेस्ट भी कराएँगे ताकि तमाम और पहलू उजागर हो सकें। 

 शुक्रवार की शाम पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्री स्वरूप ने बताया कि बीते रविवार को मोहद्दीपुर में सहायक अभियंता मनोज कुमार सिंह की हत्या का खुलासा हो गया है। उन्होंने बताया कि अभिलेखीय, टेलीफोन सर्विलांस व परिस्थितिजनक साक्ष्य के आधार पर एई एके चौधरी और ठेकेदार पंकज शाही को गिरफ्तार किया गया है। पंकज शाही मकतूल मनोज सिंह का करीबी था और उसने ही हत्यारों को मनोज के लोकेशन के बारे में जानकारी दी थी।

उन्होंने बताया कि जाँच में पता चला कि बिना काम के करोड़ों रुपए का भुगतान कराने के लिए ठेकेदार इंजीनियर पर दबाव बनाया करते थे। उन्होंने बताया कि एई एके चौधरी की मकतूल से विभागीय रंजिश थी जबकि ठेकेदार पंकज शाही ने गद्दारी की थी। उन्होंने बताया कि इस हत्या में शामिल लोगों की तलाश हो रही है। डीआईजी के मुताबिक और भी जानकारियां मिली हैं पर जनहित में उन्हें बताना मुनासिब नहीं है।

सवालों के जवाब में श्री स्वरूप ने कहा कि सिंचाई विभाग में बेनामी ठेकेदारों का भी पता चला है। भ्रष्टाचार के कई मामले सामने आए हैं। पुलिस शासन व प्रशासन को अपनी रिपोर्ट भेजी गई। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही हत्यारे और इस हत्याकांड से जुड़े लोगों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंजीनियर हत्याकांड में एई व ठेकेदार गिरफ्तार