DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंहगाई का मामला गूंजा उप्र विधान परिषद में

उत्तर प्रदेश विधान परिषद में शुक्रवार को बढ़ती मंहगाई का मुद्दा गूंजा जिस पर सभापति सुखराम सिंह यादव ने एक घंटे की चर्चा स्वीकार कर ली। कांग्रेस के नसीब पठान और राष्ट्रीय लोकदल के मुन्ना सिंह चौहान ने शून्यकाल में कार्य स्थगन सूचना के माध्यम से मामला उठाते हुए कहा कि प्रदेश में मंहगाई चरम सीमा पर है। दालों सहित खाद्य पदार्थों के दाम आम आदमी की पहुंच से बाहर होते जा रहे हैं। उन्होंने मंहगाई पर नियंत्रण के लिये सरकार से कारगर कदम उठाने की मांग की।
    
शिक्षक दल के नेता ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि मंहगाई का कारण खाद्यान्नों की जमा खोरी है। जिस पर सरकार को सख्त रोक लगानी चाहिए। प्रतिपक्ष के नेता अहमद हसन ने मंहगाई के मुद्दे पर चर्चा कराये जाने की मांग करते हुए कहा कि मंहगाई के लिये राज्य और केन्द्र सरकार दोनों बराबर के जिम्मेदार है। सरकार की तरफ से कपड़ा मंत्री जगदीश नारायण राय ने बताया कि राज्य ने पहले ही सभी जिलाधिकारियों को जमाखोरी के खिलाफ छापामारी के निर्देश दिये है और अभियान के साथ छापामारी चल रही है। साथ ही निर्धारित दामों पर दालें उपलब्ध कराई जा रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मंहगाई का मामला गूंजा उप्र विधान परिषद में