DA Image
9 अप्रैल, 2020|12:37|IST

अगली स्टोरी

सिंथेटिक दूध को लेकर विधानसभा चिंतित

उत्तर प्रदेश में बिक रहे सिंथेटिक दूध को लेकर राज्य सरकार आज विधानसभा में विपक्ष के निशाने पर रही। विपक्ष का आरोप है कि सरकार राज्य में बिक रहे सिंथेटिक दूध को लेकर गम्भीर नहीं है। इसकी बिक्री पर रोक लगाने के बजाए अनदेखी की जा रही है। इसकी वजह से लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड रहा है।

प्रश्नकाल में रालोद के सत्एन्द्र सोलंकी और सपा के सुन्दर लाल लोधी ने इस मामले को उठाया और कहा कि राज्य में नकली दूध धडल्ले से बिक रहा हैं। नेता प्रतिपक्ष शिवपाल सिंह यादव ने आरोप लगाया कि इस मामले की जानकारी सरकार को है लेकिन वह कार्रवाई करने से बच रही है। स्वास्थ्य मंत्री अनंत मिश्र ने विपक्ष के आरोपों को निराधार बताया और कहा कि सिंथेटिक दूध नहीं बिक रहा है लेकिन स्वीकार किया कि कई स्थानों पर मिलावटी दूध बेचा जा रहा है। उन्होंने विपक्ष के उन आरोपों को सिरे से खारिज किया जिसमें कहा गया था कि सिंथेटिक दूध की बिक्री को सरकार नजरअंदाज कर रही है।

उन्होंने कहा कि मिलावट करने वाले 244 लोगों को 2007 में 170 लोगों को 2008 में और इस वर्ष 11 अप्रैल तक 29 लोगों को पकडा जा चुका है। सरकार के जवाब से असंतुष्ट भाजपा सदस्यों ने सदन का बर्हिगमन किया जबकि अन्य विपक्षी दलों के सदस्य जवाब से असंतुष्ट होकर शोर शराबा करते रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सिंथेटिक दूध को लेकर विधानसभा चिंतित