DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय स्टेट बैंक में करोड़ो के घोटाले में दो महिलाओं समेत चार लोग शामिल

भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में 40 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी के मामले में बैंक के आला अधिकारियों ने कानपुर पुलिस को एक प्रार्थनापत्र देकर मांग की है कि जिस निवेश कंपनी ने यह धोखाधड़ी की है पुलिस उसके मालिकों पर नजर रखे हैं ताकि वे शहर छोड़ कर न भाग पाएं ।

यह भी बताया गया है कि धोखाधड़ी करने वाली कंपनी के मालिकों में दो महिलाओं समेत चार लोग शामिल हैं।

पुलिस अधीक्षक (अपराध) ओपी सिंह ने पत्रकारों को बताया कि स्टेट बैंक की मुख्य शाखा के एजीएम एकाउंट पीपी छाछरा ने आज तड़के दो बजे कोतवाली में एक प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि बैंक में एस आर एस इन्वेंसटमेंट कंपनी के मालिकों ने करीब 45 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है । चूंकि इस मामले की जांच के लिये सीबीआई से सिफारिश की गयी है इसलिये एस आर एस इन्वेस्टमेंट कंपनी के मालिक हरीश रामचन्दानी, उनके पिता वासुदेव रामचन्दानी मां पुष्पा रामचन्दानी तथा पत्नी नंदनी रामचन्दानी शहर छोड़ कर भागने न पायें ।

उन्होंने बताया कि चूंकि इस मामले की जांच के लिये स्टेट बैंक आफ इंडिया द्वारा सीबीआई से सिफारिश किए जाने के कारण इस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी है केवल कोतवाली पुलिस को निर्देश दिये गये हैं कि वह एसआरएस कंपनी के मालिकों पर निगाह रखे । उन्हें शहर से बाहर न जाने दे ताकि अगर सीबीआई कभी इनसे पूछताछ करना चाहे तो वे उपलब्ध हो सकें ।

गौरतलब है कि भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में एस आर एस इन्वेस्टमेंट कंपनी ने करीब 40 रुपये करोड़ की धोखाधड़ी की है । राशि का यह आंकड़ा कल स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अरूण सरीन ने पत्रकारों के साथ बातचीत में दिया था लेकिन आज तड़के जब पुलिस को आवेदन दिया गया तो उसमें यह रकम 45 करोड़ रूपये बताई  गई ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कानपुर : भारतीय स्टेट बैंक में करोड़ो का घोटाला