DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रवि किशन की भोजपुरी को आठवीं सूची में शामिल करने की मांग

भोजपुरी सिनेमा के महानायक रवि किशन ने कहा है कि देश के कई प्रान्तों में बोली जाने वाली भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल किया जाना चाहिए।

रवि किशन ने पत्रकारों से कहा कि वह इस सिलसिले में जल्द ही प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलेंगे और भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कराने की मांग करेंगे।

उन्होंने कहा कि देश के अधिसंख्य लोगों की जुबान भोजपुरी की संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल किया जाये ताकि हिन्दी की ही तरह इस भाषा का भी विकास हो सके। लगभग 100 भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुके रवि किशन ने कहा कि मैं भोजपुरी भाषा को उसका उचित सम्मान दिलाकर ही दम लूंगा।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जब से गैर कांग्रेसी सरकारों का दौर चला है तब से विकास के सारे कार्य ठप हो गए हैं। देश के अन्य राज्यों की तुलना में उत्तर प्रदेश विकास की दौर में काफी पीछे रह गया है। कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने राज्य के विकास का वीडा़ उठाया है।

रवि किशन ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जितनी जनोपयोगी योजनाएं चलाई है उसका सही ढंग से उपयोग उत्तर प्रदेश में नहीं हो पा रहा है। एक तरफ पूरा उत्तर प्रदेश सूखे की चपेट में है वहीं दूसरी तरफ प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने अनुपूरक बजट में पांच सौ छप्पन करोड़ रुपया मूर्तियों को लगाने के लिए रखा है। उन्होंने प्रदेश की जनता से अपेक्षा की है कि अब वही निर्णय करे कि नरेगा कर्जमाफी अच्छा है या 556 करोड़ रुपया  मूर्तियों में खर्च हो वह अच्छा है।

उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस नेतृत्व ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए मुझे आदेश दिया तो मैं चुनाव लडूंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भोजपुरी को आठवीं सूची में शामिल करने की मांग