DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ललितपुर में किसान की मौत पर विप में हंगामा


समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने गुरुवार को विधान परिषद में ललितपुर जिले के महरौनी थाने के  ग्राम वरवारा में गोविन्द नामक किसान की सूखे के कारण मौत के मामले को लेकर हंगामा मचाया और अपना विरोध प्रकट किया। सदस्य सभापति पीठ  के सामने वेल में चले गए। इस कारण सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी।

रक्षा बन्धन के अवकाश के बाद जैसे ही गुरुवार को सदन की कार्यवाही प्रश्न प्रहर से शुरू हुई, नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन व कई अन्य  सपा सदस्यों ने इस मसले को उठा दिया। उनका कहना था कि प्रदेश सरकार के खोखले दावे से जनता में त्राहि-त्राहि मची है। सरकार ने  दावा किया था कि भीषण सूखे की वजह से प्रदेश की जनता पर आँच नहीं आने दी जाएगी, लेकिन ललितपुर के किसान की सूखे के कारण मृत्यु हो गई क्योंकि उसकी जानकारी में यह बात आई कि ललितपुर जिले को सूखाग्रस्त घोषित नहीं किया गया है।

इस मुद्दे पर नारेबाजी और हंगामा करते हुए राम आसरे विश्वकर्मा, लल्लन प्रसाद यादव, भरत त्रिपाठी, अतर सिंह यादव, अरविन्द यादव, कमला प्रसाद यादव तथा डॉ. सरोजनी अग्रवाल आदि सभी सदस्य वेल में चले गए। सभापति चौ. सुखराम सिंह यादव ने उन्हें संतुष्ट करने की कोशिश की किन्तु वे विरोध ही करते रहे। ऐसी स्थिति में सभापति ने सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ललितपुर में किसान की मौत पर विप में हंगामा