DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक हड़ताल से आम आदमी बेहाल

देश में राष्ट्रीय बैंकों की दो दिवसीय राष्ट्रव्यापी हडताल से आज पहले ही  दिन बैकिंग कारोबार अस्त व्यस्त हो गया। शाम होने तक राजधानी के अधिकांश ए.टी.एम. खाली हो गये। गुरुवार को शुरु हुई हड़ताल का असर आगामी रविवार तक रहेगा। शनिवार को दो घंटे बैंक व्यवसायिक कारोबार तो करेंगे लेकिन रविवार को फिर बैंकों में छुट्टी रहेगी। हड़ताल की वजह से व्यवसायियों और आम लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ा। इससे अरबों रूपए का नुकसान होने की संभावना जताई गई है।


राजधानी के विभिन्न हिस्सों में बैंकों की शाखाओं के ताले नहीं खुले। बैंक कर्मचारियों के संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर देश भर में राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारियों ने हडताल शुरु क रके बैंकों के ताले भी नहीं खुलने दिये। 


हडताल के चलते गुरुवार की  देर रात तक अधिकांश एटीएम भी खाली होने की ख़्ाबर है। बैंक अधिकारियों एवं कर्मचारियों की नौ अखिल भारतीय यूनियनों के यूनाईटेड फोरम एवं बैंक यूनियंस ने बैंकों में दो दिन की हडताल का आह्वान किया है। बैंक कर्मचारियों के संगठन ने यह हड़ताल वेतन पुनरीक्षण,पेंशन विकल्प और अनुक म्पा नियुक्ति के प्रकरणों के निराकरण सहित अन्य मांगों को लेकर की है।


बैक यूनियन नेताओं ने कहा कि सरकार ने मांगे नही मानी तो नौ अगस्त को बंगलुरू में होने वाली फोरम की बैठक में अनिश्चितकालीन हडताल का आह्वान किया जा सकता हैं। गौरतलब है कि देश में 29 विदेशी बैंकों समेत 80 वाणिज्यक बैंक और लगभग तीन हजार शहरी एवं ग्रामीण बैंक है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंक हड़ताल से आम आदमी बेहाल