अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कॉरपोरेट व आर्टिस्टिक योगा की धूम

भी हिमालय की कन्दराओं में ऋषि-मुनियों द्वारा अपनाये जाने वाला योग अब स्वामी रामदेव के पंतजलि योगपीठ से होते हुए अलीशान कारपोरट दफ्तरों, फिल्मी हस्तियों तथा नेताओं के बंगलों तक जा पहुंचा है। फिल्मी हस्तियों की तरह काया को निखारने के लिए अब ‘आर्टिस्टिक योगा ’ तथा बड़े-बड़े कम्पनी प्रबंधकों के लिये ‘कॉरपोरट योगा’ की शुरुआत हो गई है। अध्यात्म एवं योग गुरु भरत ठाकुर ने कुछ साल पहले इसकी शुरुआत की थी और आज इसके दिल्ली, मुम्बई, हैदराबाद, बेंगलूर, दुबई तथा कुआलालंमपुर में करीब चार दर्जन हाई टेक स्टूडियो (साधना केन्द्र) हैं जहां नियमित कक्षायें चल रही है। दिल्ली की पॉश कालोनियों में इसके आठ स्टूडियो हैं तथा दो जल्दी ही खुलने वाले हैं। इस योग संस्थान की दिल्ली संयोजक उषा चेंगप्पा ने बताया कि वे राष्ट्रीय तथा बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के आला अधिकारियों को उन्हीं के दफ्तरों में लगी उनकी सीटों पर ही योग का प्रशिक्षण देते हैं ताकि उन्हें शारीरिक तथा मानसिक तनाव से मुक्ित मिल सके। इनके पास समय की कमी होती है इसलिये उनके लिये बनाये गये योग के खास पैकेा में वे काम के दौरान ही अपनी सीट पर योगकर अपने आप को मानसिक तथा शारीरिक तौर पर फिट रख सकते हैं। दिल्ली के युवा सांसद सचिन पायलट तथा एअर टेल के सुनील मित्तल जसी कई हस्तियां उनके ग्राहकों की सूची में शामिल हैं। उन्होंने बताया कि फिल्मी हस्तियों में करीना व सैफ, अमृता अरोड़ा, विपासा बासु, इशा कोपिकर, सलमान खान तथा अभय देवोल को उनके मुम्बई स्टूडियो के प्रशिक्षक नियमित आर्टिस्टिक योगा का प्रशिक्षण देते हैं। भीड़ की समस्या के कारण वे लोग स्टूडियो नहीं आ सकते इसलिये प्रशिक्षण उनके घरों पर ही दिया जाता है। जहां स्टूडियो के ग्रुप प्रशिक्षण की फीस प्रति प्रशिक्षणार्थी सौ रुपये प्रति घंटा है वहीं कारपोरट शुल्क प्रति घंटे पांच हाार रुपये तक चार्ज किये जाते हैं। योग संस्थान से जुड़े सूत्रों की मानें तो योग 21 वीं सदी का सबसे तेजी से उभरता व्यवसाय बनता जा रहा है। इसमें अब साधू सन्यासियों के साथ-साथ ऑक्सफोर्ड रिटर्न तक गहरी दिलचस्पी लेने लगे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कॉरपोरेट व आर्टिस्टिक योगा की धूम