DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजनीतिक दलों ने शुरू की तलवारें खींचनी

विधानसभा की 18 सीटों पर होनेवाले उप चुनाव में वामपंथी पार्टियां एकजुट रहेंगी। तीन वाम दलों की एकजुटता लोकसभा चुनाव से चल रही है। निकाय कोटे से विधान परिषद की भरी जानेवाली सीटों के चुनाव में भी तीनों दलों के बीच एकता कायम रही। अब विधानसभा चुनाव में इसका प्रदर्शन होगा। हालांकि कुछ सीटों पर दो दलों का दावा है। लेकिन अच्छी बात यह है कि तीनों दलों का नेतृत्व गतिरोध दूर करने के लिए तैयार हैं।

तीन वामदलों-भाकपा, माकपा और भाकपा माले ने 18 में से 13 सीटों पर उम्मीदवार देने की तैयारी की है। भाकपा ने घोरैया, बोधगया, वारिशनगर, नौतन और सिमरी बख्तियारपुर में उम्मीदवार देने का फैसला किया है। माकपा बेगूसराय और घोसी में उम्मीदवार देने पर विचार कर रही है। माकपा के राज्य सचिव विजयकांत ठाकुर ने कहा कि हमने अंतिम तौर पर फैसला नहीं किया है।

यह विचार के स्तर पर है। इधर भाकपा माले ने छह सीटों की शिनाख्त की है। ये हैं-घोसी, फुलवारीशरीफ, बोचहा, बगहा, कल्याणपुर और वारिशनगर। तीनों दलों के दावे को देखें तो दो सीटों घोसी और वारिशनगर में टकराव की स्थिति है। घोसी पर माकपा और भाकपा माले का दावा है। वारिशनगर पर भाकपा और भाकपा माले दावा कर रही है।

माले के कार्यालय सचिव संतोष सहर कहते हैं-भाकपा और माकपा से बातचीत के बाद ही पार्टी अंतिम निर्णय लेगी। सीटों के चलते वामदलों की एकता प्रभावित नहीं होगी। भाकपा के राज्य सचिवमंडल के सदस्य जब्बार आलम ने बताया कि पांच सीटों पर जिलों से सिफारिशें आई हैं। दो सीटों पर अन्य वाम दलों के दावे के बारे में श्री आलम ने कहा कि यह कोई समस्या नहीं है।

हमलोग साथ बैठकर इसका निदान कर लेंगे। माकपा के साथ भाकपा की एक दौर की बात हो चुकी है। जल्द ही माले से बातचीत होगी। फिर तीनों दल एकसाथ बैठकर सीटों का निपटारा कर लेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजनीतिक दलों ने शुरू की तलवारें खींचनी