DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूखा पर 9 को सर्वदलीय बैठक

 राज्य को सूखाग्रस्त घोषित करने की मुहिम में जुटी सरकार ने विपक्ष को साथ लाने की कवायद शुरू कर दी है। इसके लिए 9 अगस्त को सर्वदलीय बैठक बुलाई गयी है। सभी दलों से लोगों को राहत पहुंचाने के लिए ठोस सलाह मांगी गयी है। राज्य के 35 जिलों में सूखे की स्थिति गंभीर है। 

पश्चिम चम्पारण, पूर्वी चम्पारण और दरभंगा में स्थिति संतोषजनक कही जा सकती है। तीनों जिलों में क्रमश: 97 प्रतिशत, 75 प्रतिशत और 82 प्रतिशत रोपनी हुई है। दूसरी तरफ गया और नवादा में 0.17 प्रतिशत, अररिया में 2 प्रतिशत, जहानाबाद में 2.1 प्रतिशत, भागलपुर में 2.21 प्रतिशत ही रोपनी हो सकी।

अगर बारिश का यही हाल रहा तो बैठक के अगले दिन बिहार को सूखाग्रस्त घोषित करके राज्य सरकार केन्द्र से विशेष सहायता की मांग कर देगी। लिहाजा राजनीतिक दलों की राय को विशेष रिपोर्ट का रुप दिया जायेगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिलों के प्रभारी मंत्रियों और विभागीय सचिवों से भी उनके क्षेत्र में सूखे की स्थिति पर हुई सर्वदलीय बैठक की रिपोर्ट शनिवार तक मांगी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूखा पर 9 को सर्वदलीय बैठक