DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयुष चिकित्सकों की नियुक्ित पर कोर्ट ने जवाब मांगा

झारखंड हाइकोर्ट ने आयुष चिकित्सकों की नियुक्ित के मामले में सरकार को जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। सरकार को जवाब दाखिल करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया गया है। चीफ जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्र और जस्टिस डीके सिन्हा की कोर्ट ने मो नसीम अहमद की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया। प्रार्थी को चयनित चिकित्सकों को भी प्रतिवादी बनाने का निर्देश दिया गया है।ड्ढr इस संबंध में मो नसीम अहदम ने जनहित याचिका दायर की है। इसमें कहा गया है कि आयुष चिकित्सकों की नियुक्ित में नियमों का पालन नहीं किया गया है। सरकार ने राज्यस्तरीय नियुक्ित कमेटी का अध्यक्ष डॉ अमरश्वर प्रसाद को बनाया, जो योग्यता नहीं रखते हैं। उनके खिलाफ विभिन्न थानों में प्राथमिकी भी दर्ज है। साथ ही 50 लाख गबन का मामला भी चल रहा है। सरकार से यह पूछा जाना चाहिए कि दागी व्यक्ित को कैसे अध्यक्ष बनाया गया। नियुक्ित के लिए गठित कमेटी में आराी झा और पवन कुमार वर्मा तकनीकी विशेषज्ञ थे। उनकी शैक्षणिक योग्यता मात्र स्नातक है, जबकि ये लोग चिकित्सक, प्रोफेसर की नियुक्ित के लिए साक्षात्कार ले रहे हैं। इस प्रकार पूर मामले की जांच करायी जानी चाहिए। सुनवाई के बाद कोर्ट ने सरकार को दो सप्ताह में जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया। प्रार्थी की ओर से वकील यशोधरा त्रिपाठी ने बहस की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आयुष चिकित्सकों की नियुक्ित पर कोर्ट ने जवाब मांगा