DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रावत ने विकास न होने का ठीकरा राज्य के सिर फोड़ा

केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री हरीश रावत ने उत्तराखण्ड में पिछले ढाई वर्षों से विकास के पहिये में जाम लगने पर आरोप लगाते हुये गुरुवार को कहा कि राज्य सरकार विकास के लिये केन्द्र सरकार से मिलने वाले धन का भी पूरा उपयोग नहीं कर पा रही है।
    
रावत ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य में सूखे की स्थिति से निपटने के लिये राज्य सरकार को जो पहल करनी चाहिये थी। वह नहीं किया गया। केन्द्रीय दल को बुलाकर सूखे का आंकलन कराने के संबंध में राज्य सरकार ने कुछ नहीं कहा है। राज्य के लिये विशेष पैकेज की मांग की गयी है। लेकिन इसमें विपक्ष से सहमति नहीं ली गयी। केन्द्र से सहायता की मांगते समय लगना चाहिए कि पूरा राज्य एक है।
    
उन्होंने कहा कि जिन योजनाओं के लिये राज्य को केन्द्र से सहायता मिल रही है, उसमें भी राज्य को विशेष तवज्जो देना चाहिये। नरेगा  राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन राजीव गांधी विदयुतीकरण योजना सहित कई योजनाओं के खर्च में राज्य अभी भी पीछे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रावत ने विकास न होने का ठीकरा राज्य पर मढ़ा