DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूएन शांति अभियानों का दायरा स्पष्ट हो: भारत

यूएन शांति अभियानों का दायरा स्पष्ट हो: भारत

संयुक्त राष्ट्र के शांति रक्षा मिशनों में महत्वपूर्ण भागीदार की भूमिका निभाने वाले भारत ने कहा कि शांति रक्षा मिशनों के संबंध में विश्व निकाय का दायरा बहुत व्यापक है और इससे अभियानों की सफलता प्रभावित हो रही है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र को हजारों सैनिक और पुलिसकर्मी उपलब्ध कराने वाले राष्ट्र के रूप में हम अनुभव करते हैं कि विभिन्न विषयों पर सुरक्षा परिषद के रुख का दायरा और वह तरीका जिसके जरिए यह रुख बनाया जाता है, चिंता का प्रमुख विषय है।

शांतिरक्षा मिशन पर सुरक्षा परिषद की एक विशेष बैठक को संबोधित करते हुए पुरी ने कहा कि शांति मिशनों का दायरा बहुत बड़ा है और यह संगठन की कुल क्षमता के हिसाब से उतना काम कर नहीं पा रहा है। इस दायरे को स्पष्ट करने और हासिल करने योग्य बनाने के संबंध में ब्राहिमी समिति की सिफारिशों के महत्व पर जोर देते हुए पुरी ने कहा, हम इस बात को फिर से दुहराते हैं कि शांतिरक्षा अभियानों और संसाधनों में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले देशों को इस दायरे में शामिल किये बिना लक्ष्यों को हासिल कर पाना संभव नहीं है ।

उन्होंने कहा कि हमारा मत है कि भविष्य में शांति और सुरक्षा की स्थापना में संयुक्त राष्ट्र की प्रभावशीलता प्रभावित राष्ट्रों की सरकारों की क्षमता के हिसाब से तय होगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है कि परिषद के दायरे में विस्तार कर इन देशों के साथ परामर्श को तवज्जो दी जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूएन शांति अभियानों का दायरा स्पष्ट हो: भारत