DA Image
1 अक्तूबर, 2020|4:38|IST

अगली स्टोरी

नहाओ पर ध्यान से..

नहाओ पर ध्यान से..

ठंडे-ठंडे पानी से नहाना.. ये गाना तुम सभी बच्चों ने सुना होगा। गर्मियों के मौसम में जब पसीने से हाल-बेहाल हो तो पानी में धमा-चौकड़ी करना किसे अच्छा नहीं लगता। पर दोस्तो, क्या तुम जानते हो, अभी हाल ही में अमेरिका में हुए एक शोध में पता चला है कि बच्चों को लगने वाली चोटों में से आधी बाथ टब में नहाते वक्त लगती हैं। सुन कर चौक गये ना?

तुम सभी नहाते वक्त पूरी तरह से मस्ती में डूब जाते हो और चोट लगा बैठते हो। अमेरिका में हुए इस शोध में बताया गया कि बाथ टब में नहाते वक्त लगने वाली चोटें अक्सर पैर फिसलने की वजह से लगती हैं। 4000 से ज्यादा बच्चों पर किए गए इस शोध में पता चला कि लगने वाली चोटों में से अधिकतर चेहरे, गले और सिर पर होती हैं, जो कि कभी-कभी बहुत गंभीर होती हैं। इसी बारे में मेट्रो हॉस्पिटल की बाल रोग विशेषज्ञ आरती गुप्ता का कहना है,  ‘प्यारे बच्चो, मुझे पता है, तुम सबको नहाना बहुत पसंद है। नहाने से हमारे शरीर के गंदे कीटाणु, जो हमें बीमार बनाते हैं, भाग जाते हैं। परंतु नहाना जितना जरूरी है, उतनी ही जरूरी है नहाते वक्त सावधानी बरतना। तुम सभी नहाने में ऐसे खो जाते हो कि तुम्हें चोट लगने का भी होश नहीं रहता है। दरअसल गुरुत्व में होने वाले परिवर्तन से तुम अपना संतुलन खो देते हो। बाथ टब से बाहर आते समय सपोर्ट-बार का सहारा लेकर बाहर आना चाहिए ताकि तुम अपने आप को फिसलने से बचा सको’। अब तो तुम सभी की समझ में आ ही गया होगा कि नहाना जितना जरूरी है, उतना ही जरूरी नहाते वक्त सावधानी रखना भी है। प्राची, जो अभी क्लास फोर्थ में पढ़ती है, दोपहर को स्कूल से वापस आकर नहा रही थी, नहाकर जब वो बाथ टब से निकल रही थी तो उसका पैर फिसल गया, जिससे उसके सिर पर गहरी चोट आई। सिर पर छह टांके लगाने पड़े। आज भी उसके सिर पर वो निशान हैं। ऐसे कई उदाहरण तुम्हें तुम्हारे आसपास मिल जाएंगे, जो तुम सबको बस यही सीख देते हैं कि नहाते समय तुम्हें सावधानी बरतनी चाहिए। अब हमें पूरा यकीन है कि  नहाते समय मस्ती के साथ-साथ अपना खास ध्यान रखोगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:नहाओ पर ध्यान से..