DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलकायदा का नेतृत्व पाकिस्तान में: मुलेन

अलकायदा का नेतृत्व पाकिस्तान में: मुलेन

अमेरिकी सेना के एक उच्चाधिकारी ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि अल कायदा का नेतृत्व पाकिस्तान में रहता है, कहा कि आतंकी संगठन को उखाड़ फेंकने के लिए इस्लामाबाद और अफगानिस्तान दोनों के साथ संबंध कायम रखना जरूरी है।

अमेरिकी ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष एडमिरल माइक मुलेन ने नेशनल पब्लिक रेडियो से साक्षात्कार में कहा कि अल कायदा का नेतृत्व पाकिस्तान में रहता है, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति की अफ-पाक रणनीति के तहत दोनों को एक साथ रखने का कारण वह क्षेत्र है।

मुलेन ने कहा मुझे नहीं लगता कि हम सिर्फ एक या दूसरे देश पर ध्यान केंद्रित करके अल कायदा को उखाड़ फेंक सकेंगे। मुझे लगता है कि दोनों देशों के साथ संबंध कायम रखते हुए ही हम यह कर सकते हैं। पिछले एक साल में इलाके की कई यात्राओं का जिक्र करते हुए मुलेन ने कहा कि मैं इस बात से सहमत हूं कि पाकिस्तान का भाग भी वास्तव में एक चुनौती है। मुलेन ने कहा कि मुझे लगता है कि विश्व के उस भाग में स्थायित्व लाना वास्तव में कठिन है।

यह स्वीकार करते हुए कि अफगानिस्तान में लड़ाई अब और कठिन है, उन्होंने कहा लड़ाई कठिन होने का एक कारण संसाधनों की कमी है। तालिबान ज्यादा बेहतर हुआ है और यह हम 2006 से देख रहे हैं। पिछले तीन सालों में हर साल उसकी क्षमताओं में वृद्धि हुई है, यहां तक कि 2007 में जब उसने आंतरिक तौर पर अपना बहुत सा नेतृत्व खोया, अगले साल वह फिर से वापस आ गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलकायदा का नेतृत्व पाकिस्तान में: मुलेन