DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पब्लिक स्पीकिंग

जन संबोधन यानी समूह के सामने बोलने में कई लोगों को बहुत दिक्कत होती है। आत्मविश्वास की कमी के कारण ऐसे लोग भीड़ के आगे बोलते समय पसीना-पसीना हो जाते हैं, और अपनी बात संप्रेषित नहीं कर पाते। इससे वे भारी तनाव में रहते हैं। लेकिन ऐसा भी नहीं कि इन्हें ताजिंदगी ऐसे ही रहना पड़ेगा। पब्लिक स्पीकिंग में घबराहट को मात देने के कुछ बड़े ही कारगर नुस्खे हैं, जिन्हें अपना कर कोई भी शख्स अपनी हिचक दूर कर सकता है। ऐसा कर आप अच्छे और असरदार वक्ता भी बन सकते हैं।

- मुस्कुराइए। इससे आप सामने वालों को अच्छे लगेंगे, और आपको खुद भी अच्छा महसूस होगा। आप आत्मविश्वास से भरे नजर आएंगे।

- तसल्लीबख्श अंदाज अपनाइए। रिलेक्स रहने से तनाव और दबाव आपके शरीर और दिमाग में जगह नहीं बना पाएगा। ऐसे में बोलने से पहले आपको संभावित परेशानी से निपटने की रणनीति तैयार करने में आसानी रहेगी।

- अपने आप को कामयाब वक्ता समझ कर व्यवहार करें। इससे आधी झिझक जाती रहेगी।

- याद रखें आपकी उम्र के हजारों लोगों ने पब्लिक स्पीकिंग की आर्ट सीखकर ही कामयाबी हासिल की है। फिर आप उनसे कहां कम पड़ते हैं? तो बगैर देर किए इस मौके का फायदा उठा लीजिए।

- अपनी नींद हराम न करें, बल्कि मन से रिहर्सल करें। ऑडियंस आपसे परफैक्शन की उम्मीद नहीं करते, तो आप उसके लिए क्यों इतना टेंशन लेते हैं?

- अपने विषय पर किसी भी तरह के सवालों के जवाब देने के लिए पूरी तैयारी करें। इसके लिए जानकारी पहले से जुटाकर रखें। इसे आपको याद रखने की जरूरत नहीं है। अगर कोई पूछे, तो आप उससे जुड़ी मुद्रित सामग्री दे सकते हैं।

- दो या तीन मुख्य बिंदुओं पर फोकस करें और अपनी बात धीरे कहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पब्लिक स्पीकिंग