DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य सरकार ने की परियोजनाएँ तैयार

प्रदेश की प्रमुख नदियों को नालों और नालियों से हो रहे प्रदूषण से वर्ष 2012 तक मुक्त कर दिया जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार की जेएनएनयूआरएम और अन्य योजनाओं के तहत परियोजनाएँ तैयार की हैं। नगर विकास मंत्री नकुल दुबे ने बताया कि भारत सरकार की वित्तीय सहायता से चल रही नदी संरक्षण योजना, जेएनएनयूआरएम और यूआईडीएसएसएमटी कार्यक्रमों के तहत प्रस्ताव तैयार किए गए हैं।

इन योजनाओं को विभिन्न चरणों में पूरा किया जाएगा। नदियों को शहरी प्रदूषण से बचाने के लिए राज्य सरकार ने जो योजनाएँ तैयार की हैं उनके डीपीआर भी बन गए हैं। राज्य सरकार की उच्च स्तरीय समिति ने डीपीआर का परीक्षण कर लिया है और उन्हें अंतिम स्वीकृति के लिए केन्द्र सरकार समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि नदियों के प्रदूषण को खत्म करने के लिए जो योजनाएँ स्वीकृत कर ली गई हैं उन्हें वर्ष 2012 तक पूरा कर लिया जाएगा। दूसरी ओर केन्द्रीय समिति भी राज्य सरकार की नदियों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का जायजा लेने सात अगस्त को आ रही है। यह कमेटी उसी दिन कई योजनाओं को हरी झंडी दे देगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नदियों को तीन साल में प्रदूषण मुक्त करने की तैयारी