DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईकोर्ट की शरण में जायेगी लोजपा

लोजपा का प्रदेश कार्यालय खाली कराने की नोटिस पर भड़के पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी तो लोकप्रियता हासिल करने के लिए जनता दरबार के नाम पर प्रतिबंधित इलाके में लोगों का जमावड़ा लगाते हैं।

दूर-दराज के लोग अपनी परेशानी लेकर मुख्यमंत्री से मिलने आते है लेकिन उन्हें कोरे आश्वासन के अलावा कुछ भी नहीं मिलता। बुधवार को श्री पासवान ने कहा कि पार्टी कार्यालय खाली कराने संबंधी राज्य सरकार के आदेश के खिलाफ लोजपा हाईकोर्ट की शरण में जायेगी।

पासवान ने कहा कि नीतीश सरकार ने ही 2006 में लोजपा को प्रदेश कार्यालय आवंटित किया। क्या उस समय पार्टी कार्यालय के निकट हवाई अड्डा और राजभवन नहीं था। जिला प्रशासन को प्रदर्शन की लिखित सूचना दी गयी थी। प्रशासन ने जैविक उद्यान तक प्रदर्शन करने की इजाजत दी इसके बावजूद तानाशाह की तरह मुख्यमंत्री ने लोजपा कार्यालय को खाली कराने का आदेश जारी करा दिया।

दलित अपना हक मांगने के लिए सड़क पर उतरता है तो नीतीश सरकार लाठियां बरसाती है। लोजपा प्रमुख ने हाउसिंग कॉलोनी को खाली कराने के आदेश का भी पार्टी द्वारा विरोध करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि 24 साल से रह रहे लोगों को 24 घंटे में मकान खाली करने का फरमान कैसे जारी किया जा सकता है? यह अन्याय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रतिबंधित इलाके में लग रहा जनता दरबार : पासवान