DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुन्ना और मोबाइल

मोबाइल हमारे युग की सबसे मजेदार चीज है। यह हमारे दिल की धड़कन है। यह उपयोगी खिलौना भी है पर उपयोगिता का तत्व बाद में आता है। यानी हम सब कहीं न कहीं मुन्ना मोबाइल हैं।  इसीलिए जब भी कोई मोबाइल के प्रयोग पर किसी तरह के अंकुश और नियंत्रण की बात करता है तो हमें न सिर्फ चोट पहुंचती है, बल्कि हमारे भीतर एक तरह का विद्रोह का भाव भी जगता है। कुछ ऐसी ही भावना यह सुनकर भी उत्पन्न हो रही है कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने स्कूलों को मोबाइल के प्रतिबंधित या सीमित प्रयोग का सुझव दिया है।

अभिभावक की नजर में मोबाइल उनके बच्चों का अंगरक्षक बन चुका है। वह ऐसा दोस्त है, जो उसे संकट में गुहार लगाने की ताकत देता है और मां-बाप को बच्चे पर निगरानी रखने और उसे स्वास्थ्य संबंधी जरूरी निर्देश देते रहने का अवसर देता है। इसलिए सीबीएसई के इस निर्देश पर अभिभावकों की चिंता एक हद तक वाजिब भी लगती है।

लेकिन अगर हम घर, समाज और स्कूल के क्षेत्राधिकार और संबंधित दिशा निर्देश पर ठीक से विचार करेंगे तो तमाम तरह की आशंकाओं की गुंजाइश कम हो जाएगी। हमें स्कूल के परिवेश में न घर का हस्तक्षेप होने देना चाहिए न ही बाजार का। अगर हम पाठ्यक्रम और परीक्षा के मामले में किसी संस्था पर विश्वास करते हैं तो स्कूल के परिवेश और अनुशासन के बारे में उसके सुझावों को हवा में नहीं उड़ाना चाहिए। विद्यालय का उद्देश्य छात्रों के भीतर न सिर्फ ज्ञान के बीज डालना है, बल्कि उसके प्रति एक तरह की तन्मयता भी पैदा करना है।

क्लास रूम, पुस्तकालय और प्रयोगशाला में मोबाइल का प्रयोग ध्यान भंग करता है, इसमें कोई दो राय नहीं है। एसएमएस और एमएमएस के माध्यम के कुछ प्रतिष्ठित विद्यालयों में बड़े स्कैंडल हो चुके हैं यह भी एक तथ्य ही है। इससे छात्रों में एक तरह की बेचैनी और भय भी पैदा होता है, ऐसा मानना भी उचित ही है। इसी नाते कई विद्यालय अपने यहां इस तरह की रोक लागू भी किए हुए हैं।

गौरतलब है कि सीबीएसई का यह सुझाव सिर्फ छात्रों के लिए नहीं है। वह शिक्षक और प्राचार्य सभी के लिए है। पर यह सुझाव न तो बाध्यकारी है न ही इसे न मानने पर किसी तरह के दंड का प्रावधान बताया गया है। बिना दंड के अनुशासित रहना एक श्रेष्ठ लोकतांत्रिक समाज का गुण है। वह स्कूल के स्तर से ही विकसित हो इससे अच्छा और क्या हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुन्ना और मोबाइल