DA Image
31 मई, 2020|9:53|IST

अगली स्टोरी

पुणे में अस्पताल ने लापरवाही बरती: सीएम

पुणे में अस्पताल ने लापरवाही बरती: सीएम

महाराष्ट्र सरकार ने स्वाइन फ्लू से निबटने के लिए राज्य के पुणे और सतारा जिलों में महामारी अधिनियम लागू किया। सरकार ने यह कदम पुणे में स्वाइन फ्लू से एक लड़की की मौत के बाद उठाया। उधर लड़की के परिवार वालों ने अस्पताल पर केस करने का मन बना लिया है।

पुणे में मौत के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने भी कहा कि अस्पताल की लापरवाही ने लड़की की जान ले ली। लड़की के घरवालों का कहना है कि अस्पताल की लापरवाही से उनकी बेटी की मौत हुई है। गौरतलब है कि अस्पताल ने लड़की का टेस्ट कर बताया था कि उसे निमोनिया है और जब उसकी मौत हुई तो स्वाइन फ्लू से मौत की पुष्टि हुई।

अधिनियम लागू करने से सरकार को स्वाइन फ्लू के मरीजों को सरकारी अस्पतालों में जबरन क्वारेंटाइन या चिकित्सीय विलगाव में रखने में आसानी होगी।

देश में 558 लोगों को स्वाइन फ्लू अपनी चपेट में ले चुका है। छात्रा के उपचार में जुटे तीन डॉक्टर और एक नर्स भी स्वाइन फ्लू की चपेट में हैं। देश में स्वाइन फ्लू की यह पहली मौत है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पुणे में अस्पताल ने लापरवाही बरती: सीएम