DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीआई ने किया मामले का खुलासा, ज्या द्रेज के सहयोगी थे ललित

सीबीआई ने ललित मेहता हत्याकांड का उद्भेदन कर लिया है। ललित मेहता की हत्या में शामिल दो अपराधियों गुड्डू सिंह व दिलीप सिंह को सीबीआई की लखनऊ टीम ने गिरफ्तार कर लिया। गुड्डू सिंह की गिरफ्तारी 30 जुलाई को और दिलीप सिंह की गिरफ्तारी दो अगस्त को हुई। सीबीआई की लखनऊ टीम पिछले एक सप्ताह से झरखंड में ललित मेहता हत्यकांड को सुलझने में जुटी थी।

ललित मेहता हत्याकांड व महेंद्र सिंह हत्याकांड के आईओ अशरफ सिद्दकी भी पिछले कई दिनों से झरखंड में दोनों की गिरफ्तारी को लेकर सक्रिय थे। सीबीआई के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक नरेगा नेशनल काउंसिल के सदस्य व देश के प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता ज्या द्रेज के सहयोगी ललित मेहता के दोनों हत्यारों ने गिरफ्तारी के बाद जो फर्द बयान दिया है, उससे हत्याकांड की पूरी कहानी साफ हो गयी है।

गुड्डू सिंह व दिलीप सिंह ने सीबीआई को बताया है कि ललित मेहता की हत्या की उनकी कोई योजना नहीं थी। वे छतरपुर व डाल्टेनगंज के बीच रात में राहगीरों को लुटने के लिए खड़े थे। वे कुल पांच लोग थे। इसी बीच ललित मेहता वहां से गुजरे। अपराधियों की टोली ने उन्हें लूटने के लिए रोका। संयोगवश लूटपाट के दौरान उन्होंने पांचों अपराधियों में से एक राजू सिंह को पहचान लिया और इसके बाद पांचों ने मिलकर गमछा से गला दबाकर उनकी हत्या कर दी क्योंकि राजू सिंह छतरपुर का ही रहने वाला था।

ललित मेहता के कार्यालय विकास सहयोग केंद्र के पास ही राजू का आवास था। इस मामले में नक्सलियों ने हत्या के एक आरोपी राजू सिंह की पांच जनवरी 2009 को हत्या कर दी थी। राजो का भाई भी उग्रवादी था और नक्सली संगठन से पैसा लेकर भागा हुआ था।

हत्या का एक अन्य आरोपी बिहारी सिंह को पूर्व में ही सीबीआई ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। बिहारी सिंह के खिलाफ सीबीआई ने चाजर्शीट फाईल कर दिया है। गुड्डू व दिलीप लंबे समय से फरार थे। सीबीआई की टीम लगातार दोनों की गिरफ्तारी की कोशिश में थी। अभी भी इस हत्याकांड का एक अभियुक्त फरार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ललित मेहेता के हत्यारे गिरफ्तार