DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला आईटीआई में होगी नये व्यवसायों की पढ़ाई

राज्य के पुराने औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) अब चकाचक दिखेंगे। सरकार की मंशा है कि पढ़ाई के साथ ही लुक वाईज भी सरकारी संस्थान अत्याधुनिक निजी संस्थानों से कम न दिखें। इसके लिए पुराने भवनों का जीर्णोद्धार तो किया ही जाएगा कई संस्थानों में आधुनिक व्यवसाय की स्थापना भी की जाएगी। पुराने पड़ चुके यंत्रों की जगह नये और अत्याधुनिक यंत्रों की खरीदारी होगी।

कई जगह नये हास्टल और चाहरदिवारी का निर्माण किया जाएगा। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सूबे के कुल 45 औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 22 पुराने हैं। आठ महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में भी बदलाव की जरूरत है। सरकार ने फैसला किया है कि 22 पुराने संस्थानों के प्रशासनिक भवन, हास्टल और चाहरदिवारी का निर्माण नये ढंग से किया जाए।

साथ ही महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में नये व्यवसाय की पढ़ाई शुरू की जाए। नये व्यवसायों के चयन के पहले उस इलाके की मांग का ध्यान रखा जाएगा। संस्थान की प्रबंध समिति की अनुशंसा के आधार पर ही नये व्यवसायों की पढ़ाई शुरू की जाएगी। सरकार ने इसके लिए राशि की व्यवस्था कर ली है। पटना, सीवान और आरा स्थित महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के लिए नये भवन का निर्माण होगा।

कैमूर, सहरसा,, पूर्णिया, बांका, विस्फी, जमुई, आरा, कल्याण बिगहा और भागलपुर स्थित संस्थानों में प्रशासनिक और कर्मशाला भवनों का निर्माण इसी वर्ष किया जाएगा। इनमें कुछ नये संस्थान भी शमिल हैं। इसके अलावा जहां चाहरदिवारी की जरूरत है या भवनों की मरम्मत की जरूरत है वहां भी काम जल्द शुरू किया जाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चकाचक दिखेंगे सरकारी आईटीआई