DA Image
19 जनवरी, 2020|2:33|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सार्वजनिक वितरण प्रणाली संबंधी शिकायतों को लिए नियंत्रण कक्ष भी स्थापित

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न, रसोई गैस और मिट्टी तेल के वितरण एवं आपूर्ति की व्यवस्था पर शासन की नाराजगी को देखते हुए जिले में इसकी जांच को लेकर तीन टीमों का गठन किया गया है। साथ ही जिलापूर्ति कार्यालय में नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है जो रात्रि 9 बजे तक कार्य करेगा।

जिलाधिकारी गढ़वाल दिलीप जावलकर ने जिलापूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए है कि एक माह में कम से कम तीन बार खाद्यान्न गोदामों, मिट्टी तेल डीलरों, गैस एजेंसियों, पेट्रोल पंपों और सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों पर छापे मारे जाए। जिलाधिकारी ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली को सुचारु करने और कालाबाजारी रोकने के लिए जिले में इसकी जांच के लिए तीन टीमों का गठन कर दिया है।

आकस्मिक छापों में दोषी पाए गए व्यक्तियों पर तत्काल कार्यवाई अमल में लाई जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जिलापूर्ति कार्यालय में स्थापित नियंत्रण कक्ष में खाद्यान्न संबंधी शिकायतें सुबह 6 से रात्रि 9 बजे तक दी जा सकती है। डीएसओ ने उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे उक्त संबंध में किसी भी तरह की शिकायत कर सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:शासन की नाराजगी के बाद जांच टीमें गठित