DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ह्युंडई ने बनाए 100 ट्रैफिक स्वयंसेवक

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले वर्ष होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के मद्देनजर कार बनाने वाली कोरियाई कंपनी ह्युंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने सोमवार को चौथे बैच में कालेजों के 100 छात्रों को ट्रैफिक स्वयंसेवक बनाया है। जो राजधानी में यातायात को सुचारु रखने में दिल्ली पुलिस की मदद करेंगे।

दिल्ली के उपराज्यपाल तजेन्द्र खन्ना की मौजूदगी में सोमवार को आयोजित एक समारोह में इन छात्रों को यातायात सुरक्षा और दिल्ली की सड़कों पर व्यवस्था कायम रखने में सहायता करने की शपथ दिलाई गई। इस मौके पर खन्ना ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 75 प्रतिशत लोग बगैर मोटर वाले हैं लेकिन उन्हें सड़कों पर मात्र 11 प्रतिशत स्थान उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि इस दूरी को कम करने की आवश्यकता है। कम स्थान होने की वजह से बगैर मोटर वाले लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

तजेन्द्र खन्ना ने कंपनी के प्रबंध निदेशक एच एस लीम की ओर मुखातिब होते हुए कहा कि दक्षिण कोरिया के लोग यातायात नियमों का पालन करते हैं और वहां वाहन यत्र तंत्र खड़े नहीं किए जाते हैं।

लीम ने कहा कि उनकी कंपनी सड़क सुरक्षा के प्रति कटिबद्ध है और इस योजना को जारी रखना उनका प्रमुख उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि ये छात्र बदलाव के प्रतिनिधि साबित होंगे और लोगों को यातायात के नियमों का पालन करने की आदत डालने तथा अनुशासित ट्रैफिक के नए युग में कदम रखने के लिए लोगों को प्रेरित करेंगे। उन्होंने बताया कि इसके लिए चार सौ छात्रों ने आवेदन किया था। जिनमें से एक सौ का चयन किया गया है तथा आईआरटीई के सहयोग से उन्हें प्रशिक्षित किया जा रहा है। इस मौके पर संयुक्त पुलिस आयुक्त यातायात एस एन श्रीवास्तव ने उम्मीद जताई कि ये स्वयंसेवक राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान यातायात नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ह्युंडई ने बनाए 100 ट्रैफिक स्वयंसेवक