DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

दर्शकों के मन में जिज्ञासा और टीआरपी के समुद्र में ऊंची लहरें उठाने वाला राखी का स्वयंवर पूरे माह छोटे पर्दे पर छाया रहा। इस रियलिटी शो में रियलिटी कितनी रही और शो कितना ऐसे सवाल अब बेमानी हैं। चैनल के लिए स्वयंवर में किसकी झोली भरेगी, सवाल यह था ही नहीं।

दरअसल, विज्ञापनों और एसएमएस के इर्द-गिर्द बुनी गई इस कहानी में असली ‘फेरों’ की कल्पना इस कार्यक्रम के निर्माताओं और प्रस्तुत करने वाले चैनल की झोली भरने के लिए जरूरी थी। बहरहाल, 29 जून से इस शादी में बाराती, घराती और मुंडेर पर से घुड़चढ़ी को निहारते, अभी वर्गो के दर्शक अब थक चुके हैं। आराम जरूरी भी है, आखिर दो रोज बाद राखी जो है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक