DA Image
22 जनवरी, 2020|4:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई हमलों में लश्कर का हाथः ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट

मुंबई हमलों में लश्कर का हाथः ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट

मुंबई में पिछले साल हुए हमले के लिए लश्कर ए तय्यबा को जिम्मेदार ठहराते हुए एक ब्रिटिश संसदीय समिति ने रविवार को कहा कि लंदन, मेड्रिड और बाली समेत दुनिया के विभिन्न हिस्सों में हुए कुछ बड़े आतंकवादी हमलों का स्रोत पाकिस्तान के आदिवासी क्षेत्रों में रहा है।

शक्तिशाली विदेश मामलों की समिति की एक रिपोर्ट ने सीआईए के पूर्व प्रमुख के हवाले से कहा कि पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तय्यबा अल कायदा के साथ विलय के कगार पर पहुंच गया है। मुंबई हमले समेत विभिन्न हमलों के लिए भारत इस संगठन को जिम्मेदार ठहराता रहा है। अफगानिस्तान और पाकिस्तान मामले पर सांसद माइक गेप्स की अध्यक्षता वाली समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि लंदन, मेड्रिड, बाली और बाद में जर्मनी और डेनमार्क में बम धमाकों की साजिश पाकिस्तान के कबायली इलाकों से रची गई।

इसमें कहा गया कि लश्कर का भी संचालन इन्हीं कबायली इलाकों से होता है। यह संगठन मुंबई हमलों के लिए जिम्मेदार है। इसनेअमेरिका और ब्रिटिश नागरिकों को भी निशाना बनाया। सीआईए के पूर्व प्रमुख माइकल हेडेन ने इस साल की शुरुआत में कहा था कि लश्कर अल कायदा के साथ विलय की स्थिति में पहुंच गया है।

विदेश संबंधी मामलों की समिति की रिपोर्ट कहती है, हम उग्रवाद के प्रति नया नजरिया अपनाने की जरूरत को पाकिस्तानी सेना के शीर्ष स्तर द्वारा पहचानने का स्वागत करते हैं लेकिन हम इस बात को लेकर चिंतित हैं कि यह जरूरी नहीं है कि ऐसा सेना या आईएसआई के भीतर अन्य तबकों में हो।

रिपोर्ट में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की इस टिप्पणी का स्वागत किया गया कि वह उनके देश के समक्ष वास्तविक खतरा भारत को नहीं, बल्कि आतंकवाद को समझते हैं। बहरहाल, यह संशय जताया गया है कि क्या पाकिस्तान की सुरक्षा नीति की बुनियाद अफगानिस्तान में दीर्घकालिक सुरक्षा तथा स्थिरता के उद्देश्यों की पहचान के लिए पर्याप्त रूप से बदल गई है।

अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बारे में प्रकाशित रिपोर्ट में जरदारी सरकार की तारीफ की गई क्योंकि उन्होंने सैनिकों के हताहत होने के जोखिम की कीमत पर आतंकवाद निरोध के क्षेत्र में कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।
रिपोर्ट में पाकिस्तान में परमाणु प्रौद्योगिकी की सुरक्षा तथा आईएसआई और अलकायदा के बीच संभावित सांठगांठ पर गहन चिंता जताई गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मुंबई हमलों में लश्कर का हाथः ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट