DA Image
22 फरवरी, 2020|12:58|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेलिब्रेशन का बदला अंदाज

सेलिब्रेशन का बदला अंदाज

‘हर रोज मेरी बहन घर पर खाना पकाती है, इसलिए राखी के दिन मैं उसे बाहर खाना खिलाने ले जाता हूं।’ यह कहना है, हेमंत कुमार का। हेमंत एक सरकारी अस्पताल में वॉर्ड ब्वाय हैं। अभी नौकरी करते हुए दो साल ही हुए हैं। इस दिन वह अपनी बहन हेमा जो दिल्ली नगर निगम में सफाई कर्मी है, को बाहर खाना खिलाने जरूर ले जाते हैं। दोनों उस दिन छुट्टी लेते हैं। साथ में फिल्म देखते हैं और बाहर खाना खाते हैं। हेमंत कहते हैं, ‘हम भले इस मौके पर हजारों न खर्च करें लेकिन इतना जरूर है कि इस दिन को हम दूसरे लोगों से ज्यादा इंजॉय करते हैं।’

राखी के दिन बहन के साथ बाहर खाना खाने वालों में थियेटर ऐक्टर अभिजीत गांगुली भी हैं। बहन अभिनिता के साथ वह इस दिन बंगाली मार्केट में नाथूज जरूर जाते हैं। इसके बाद मंडी हाउस पर कोई प्ले देखते हैं। बहन अभिनिता एक पंचतारा होटल के हाउस कीपिंग डिपार्टमेंट में काम करती है इसलिए ‘वह ज्यादा मालदार हैं’, अभिजीत हंसकर कहते हैं, ‘लेकिन फिर भी इस दिन मैं उसे पैसे खर्च नहीं करने देता।’

पीतांबर मल्होत्र और उनकी जुड़वां बहन तरुणिमा राखी के दिन कुछ अलग हटकर करते हैं। दोनों या तो पुराने किले में बर्ड वॉचिंग करते हैं या दिल्ली की भलस्वा ङील में वॉटर स्पोर्ट्स का मजा लेते हैं। पिछले साल ये दोनों राफ्टिंग का मजा लेने षिकेश गए थे। तरुणिमा कहती हैं, ‘हम दोनों की पसंद एक है इसीलिए राखी के दिन को हम इंजॉयेबल बना लेते हैं। पिछले साल का हमारा राखी फेस्टिवल दो दिन का था। इस बार हम सोच रहे हैं कि पैरासेलिंग करने के लिए सोहना, हरियाणा चले जाएं।’

हार्दिक गर्ग और उनकी बहन हर्षिता राखी के मौके पर किसी भी अनाथ आश्रम में जरूर जाते हैं। एक सड़क दुर्घटना में माता-पिता को खो चुके हार्दिक और हर्षिता इस दिन को अपने माता-पिता की याद में मनाते हैं। वे किसी अनाथ आश्रम में जाकर कुछ रकम कंट्रीब्यूट करते हैं। पिछली बार एक स्पैस्टिक बच्ची से हार्दिक ने राखी भी बंधवाई थी। इस साल भी वह चाहते हैं कि उस बच्ची के पास जाएं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सेलिब्रेशन का बदला अंदाज