DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करोड़ की लूट में थी अपनों की साजिश

जमीन दिलवाने ले जा रहे शख्स ने ही कराई लूट
गाड़ी खरीदने को भाड़े पर किया गुंडों का इंतजाम
साजिशकर्ता समेत चार गिरफ्तार, दो हुए फरार

विश्वास जमाने में तो वर्षो लग गए पर जब एक करोड़ रुपए का लालच दिखाई दिया तो बेटे से भी ज्यादा विश्वसनीय युवक ने रकम लूटने की साजिश रचने में देर नहीं लगाई। दरअसल करोड़पति बाप के बेटे को पिता की खरीदी स्कार्पियों में चलना पसंद नहीं था। उसकी योजना पजैरो खरीदने की थी। पर उसे क्या पता था कि जिन बदमाशों को वह लूट में शामिल कर रहा है वे उसके हिस्से की रकम लेकर भी चंपत हो जाएंगे। यह असलियत है मंगलवार को दनकौर क्षेत्र में हुई एक करोड़ की लूट के मामले की साजिश रचने वाले धर्मेन्द्र की है जो पुलिस के हत्थे चढ़ गया। उसके तीन अन्य साथी भी पुलिस की गिरफ्त में आ गये हैं। अभी दो आरोपी फरार हैं। लूटी गयी रकम उन्हीं के पास बतायी जा रही है।

दनकौर कोतवाली क्षेत्र में जमीन खरीदने जा रहे किसान चतर सिंह के साथ हुई एक करोड़ की लूट के मामले में पुलिस के हाथ कई महत्वपूर्ण सुराग लगे हैं। तीन आरोपियों को भी पुलिस ने दबोच लिया है पर अभी बरामदगी न होने के चलते लिखा पढ़ी में उनकी गिरफ्तारी नहीं दिखाई गयी है। दरअसल इस लूटकांड ने एक बार फिर किसी पर भी आंख मूंद कर विश्वास करने वालों को सोचने पर मजबूर कर दिया है। पीड़ित चतर सिंह को साढ़े तीन करोड़ रुपये मुआवजा मिला था। घटना के समय धर्मेन्द्र की स्कार्पियों में ही चतर सिंह व परिजन सवार थे। पर उन्हें क्या मालूम था कि जो जमीन दिलाने ले जा रहा है उसी ने रास्ते में पहले से लुटेरे तैनात कर रखे हैं।


सूत्रों के मुताबिक धर्मेन्द्र पर पजैरो कार खरीदने की सनक सवार थी। वह खुद भी करोड़पति है पर मुफ्त के पैसे की चाहत उसे ले डूबी। लूट की साजिश में उसने न केवल अपने रिश्तेदार व दोस्तों को शामिल किया बल्कि दो पेशेवर लुटेरे भी बुला रखे थे। मुख्य आरोपी पहले दिन से ही पुलिस की पकड़ में हैं। एसपी देहात एसके वर्मा के मुताबिक वह बगैर किसी दबाव के वारदात की परतें खोल रहा है। लढपुरा गांव का दिनेश, उसका एक अपंग दोस्त तथा मतनौरा गांव का एक रिश्तेदार पुलिस की पकड़ में आ गया है। गम्भीर बात यह है कि वारदात में जो दो पेशेवर थे वही सारी रकम लेकर फरार हो गया।  पिछले चार दिनों में दोनों डेढ़ दजर्न से भी ज्यादा सिम बदल चुके हैं जिससे उनकी लोकेशन ट्रेस करने में भी अड़चन आ रही है। हालांकि पुलिस का दावा है कि अगले एक दो रोज में रकम भी बरामद कर ली जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करोड़ की लूट में थी अपनों की साजिश