DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई हमलों पर भारत ने पाक को सौंपे और सबूत

मुंबई हमलों पर भारत ने पाक को सौंपे और सबूत

मुंबई हमलों पर भारत ने पाकिस्तान को शनिवार को और सबूत सौंपे जिसमें जांच और कानूनी प्रक्रिया पर इस्लामाबाद के सभी सवालों का जवाब है।

विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (पाकिस्तान) ए रावन ने पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त रिफात मसूद को सात पन्नों का सारांश और 60 पन्ने का दस्तावेज सौंपा। सूत्रों ने कहा कि दस्तावेज में 26/11 के हमलों से संबंधित जांच और कानूनी साक्ष्यों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को सौंपे गए चौथे दस्तावेज में उसके द्वारा उठाए गए सभी बिंदुओं की विस्तृत जानकारी है और यह मुकदमे को अंतिम निष्कर्ष तक पहुंचाने के लिए पर्याप्त है।

भारत को 11 जुलाई को सौंपे गए 34 पन्नों के दस्तावेज में पाकिस्तान ने आतंकवादी हमलों के संबंध में गिरफ्तार किए गए दो भारतीय आतंकवादियों फहीम अंसारी और शबाहुददीन से पूछताछ की प्रामाणिक रिपोर्ट मांगी थी।

पाकिस्तान ने मुंबई हमले के दौरान उपयोग किए गए जीपीएस और वायर ओवर इंटरनेट प्रोटोकाल (वीओआईपी) की विशेषज्ञों द्वारा जांच की गई रिपोर्ट मांगी थी। भारत पहले ही मुंबई पर हमला करने वाले दस आतंकवादियों और पाकिस्तान में उनके आकाओं के बीच हुई बातचीत का विस्तृत सबूत पाकिस्तान को उपलब्ध करा चुका है। बहरहाल इस्लामाबाद का कहना है कि इनमें अनुरूपता नहीं है। सूत्रों ने कहा कि मुंबई में जारी कानूनी प्रक्रियाओं पर भी पाकिस्तान के कुछ सवाल हैं और इनका उत्तर दिया जा चुका है।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 11 जुलाई को पाकिस्तान ने हमें एक दस्तावेज सौंपा जिसमें मुंबई पर आतंकवादी हमले से संबंधित पाकिस्तान में जारी जांच पर नवीनतम जानकारी थी। इसमें आगे के साक्ष्यों के लिए अनुरोध किया गया था। आज पाकिस्तान के उच्चायोग को विस्तृत सबूत सौंपा गया।

इससे पहले गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा उठाए गए सवाल रोजनामचा वाले थे। मैं रिक्त स्थान पर भरे जाने वालेसवालों के बारे में कह सकता हूं। चिदंबरम ने कहा कि उन्हें सात पन्नों का दस्तावेज सौंपा गया है। इसमें कई सूचियां हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई हमलों पर भारत ने पाक को सौंपे और सबूत