DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डोपिंग मसले पर बीसीसीआई की आपात बैठक

डोपिंग मसले पर बीसीसीआई की आपात बैठक

भारतीय क्रिकेट बोर्ड की कार्यकारी समिति शीर्ष भारतीय क्रिकेटरों के वाडा डोपिंग रोधी संहिता पर हस्ताक्षर से इंकार करने के मुद्दे को जल्द से जल्द निपटाने के लिए रविवार को आपात बैठक करेगी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद डोपिंग से बचने के लिए वाडा की इस संहिता के तहत काम करती है।

भारत के शीर्ष क्रिकेटर मास्टर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस संहिता की उपलब्धता की जरूरत की धारा पर हस्ताक्षर करने में हिचकिचा रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे उनकी निजी जिंदगी में दखल होगा। बीसीसीआई के सूत्रों ने कहा कि धोनी और तेंदुलकर को कार्यकारी समिति की इस आपात बैठक की जानकारी दी जा चुकी है और अगर वे चाहते हैं तो इसमें भाग ले सकते हैं।

बीसीसीआई के सूत्रों ने कहा कि धोनी और तेंदुलकर के अलावा युवराज सिंह, वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह और जहीर खान को भी निमंत्रण भेजा गया है लेकिन हमें पता चला है कि जहीर देश से बाहर है और तेंदुलकर भी शहर में नहीं, जिससे वह भी इसमें नहीं आ पाएंगे। वैसे, इन खिलाड़ियों ने इस मुद्दे पर बोर्ड को अपने विचार भेज दिए हैं।

सूत्रों ने यह भी बताया कि आईसीसी के वकील इयान हिगिन्स भी शनिवार रात मुंबई पहुंच जाएंगे। वह खिलाड़ियों से मिलना चाहते हैं, जिससे खिलाड़ियों को संहिता की विस्तृत जानकारी दे सकें और उनकी समस्या दूर करने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि लेकिन हिगिन्स कार्यकारी समिति की बैठक में भाग नहीं लेंगे।

आईसीसी ने अपने सभी मान्यता प्राप्त सदस्यों को अपने खिलाड़ियों से विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी की संहिता पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा है, लेकिन बीसीसीआई को अपने 11 खिलाड़ियों से इंकार का सामना करना पड़ा, जिसमें दो महिला क्रिकेटर भी शामिल हैं।

क्रिकेटर उपलब्धता की जानकारी की धारा से नाखुश हैं, जिससे उनके लिए प्रत्येक दिन (सुबह छह से रात 11 बजे के बीच) एक घंटे की उपलब्ध होने के स्थान की जानकारी देनी पड़ेगी, जिससे वाडा अधिकारी कभी भी बिना बताए टूर्नामेंट से बाहर उनका परीक्षण कर सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डोपिंग मसले पर बीसीसीआई की आपात बैठक