DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकप्रिय हो रही है ऑनलाइन रिटर्न फाइलिंग

लोकप्रिय हो रही है ऑनलाइन रिटर्न फाइलिंग

आयकर रिटर्न भरने की प्रक्रिया में अब धीरे-धीरे बदलाव देखने को मिल रहा है। रिटर्न की ई-फाइलिंग अब लोकप्रिय हो रही है, खासकर युवा वर्ग में। इंटरनेट के जरिये रिटर्न जमा करना युवाओं को ज्यादा आसान और तेजी से होने वाला नजर आ रहा है।

कुछ साल पहले ऑनलाइन रिटर्न भरने वालों की संख्या 25 लाख थी, जो 2008-09 में बढ़कर 45 लाख पर पहुंच गई और अगले तीन साल में यह आंकड़ा एक करोड़ तक पहुंच जाने की उम्मीद है।

टैक्समाइल डॉट काम का संचालन करने वाली कंपनी 3आई इन्फोटेक कंज्यूमर सर्विस के प्रबंध निदेशक और सीईओ रवि जगन्नाथन ने कहा कि ऑनलाइन रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या में युवा करदाताओं के कारण इजाफा हो रहा है। ये युवा कर प्रक्रिया के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं। और इनमें से कई तो पहली बार करदाता बने हैं।

जगन्नाथन ने कहा, ये वर्ग टेक्नोलाजी का इस्तेमाल करना जानता है। वे शापिंग से लेकर बैंकिंग तक सब कुछ इंटरनेट के माध्यम से करते हैं। दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, चेन्नई, पुणे और अहमदाबाद जैसे शहरों में ई-फाइलिंग काफी लोकप्रिय है।

उन्होंने कहा कि अब कोच्चि, मैसूर, कोयम्बटूर, भोपाल और नागपुर जैसे शहरों में भी इसकी लोकप्रियता बढ़ रही है। टियर-2 और टियर-3 शहरों में भी इसका चलन बढ़ रहा है। हालांकि, बड़ी उम्र यानी 35 से 45 साल के करदाता आज भी हाथ से रिटर्न जमा कराना पसंद करते हैं। इंटरनेट के जरिये रिटर्न जमा कराना उन्हें नहीं भाता है।

जगन्नाथन ने कहा कि सरकार द्वारा चलाए जा रहे जागरूकता अभियान, मीडिया द्वारा इस प्रक्रिया की जानकारी और कंपनियों का अपने कर्मचारियों को ई फाइलिंग के लिए प्रोत्साहित करने जैसे कारणों से ऑनलाइन रिटर्न जमा कराने की प्रक्रिया लोकप्रिय हो रही है। इस प्रक्रिया के साथ सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें समय की बचत होती है। डिजिटल हस्ताक्षर की स्वीकार्यता के बाद अब करदाता के लिए रिटर्न जमा कराते समय वहां मौजूद रहकर अपने हस्ताक्षर को वेरिफाई करने की जरूरत नहीं रह गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकप्रिय हो रही है ऑनलाइन रिटर्न फाइलिंग