अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेयजल के लिए लोगों ने की सड़क जाम

सालिमपुर अहरा के हााम टोली के लोगों ने मंगलवार को पेयजल की मांग को लेकर आईएमए हॉल के पास सड़क जाम की। यहां अब तक नए जलापूर्ति पाइप नहीं बिछाये गए हैं। सड़क जाम कर रहे लोगों के मुताबिक इलाके में दशकों पहले तीन इंच का पाइप बिछाया गया था। पुराने पाइप का अस्तित्व तक समाप्त हो गया है। इस संबंध में वर्ष 2002 में पटना जल पर्षद के तत्कालीन मुख्य अभियंता रवींद्र कुमार ने स्थल निरीक्षण किया था। उन्होंने अपने रिपोर्ट में स्पष्ट लिखा था कि पाइप पूरी तरह से सड़ चुका है। पाइप बिछाये बिना जलापूर्ति नहीं हो सकती है।ड्ढr ड्ढr सात साल बीत गया लेकिन पाइप नहीं बदले गये। गर्मी के दिनों में लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरसते हैं। पानी के लिए आसापास के निजी बोरिंग वाले लोगों पर आश्रित रहना पड़ता है। सड़क जाम करने वालों में प्रतिमा देवी, सुबोध कुमार, सुषमा देवी, संतोष कुमार, धर्मेद्र कुमार, प्रदीप कुमार व संजय कुमार समेत दर्जनों लोग शामिल थे।ड्ढr ड्ढr बिजली गुल रहने से इलाज प्रभावितड्ढr पटना (का.सं.)। पटना जंक्शन के करबिगहिया छोर पर स्थित सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल में मंगलवार को बिजली गुल रहने से इलाज कराने पहुंचे मरीजों को काफी परशानी हुई। अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक केबुल छतिग्रस्त हो जाने से बिजली आपूर्ति बाधित हुई है। उसे दुरुस्त कराने का काम चल रहा है। इधर दिनभर बिजली नहीं रहने से मरीजों की जांच बाधित रही।ड्ढr मरीजों को किसी तरह देखने का काम मोमबत्ती और इमरजेंसी लाइट में चला। लोकहित याचिका खारिजड्ढr पटना (वि.सं.)। वर्ष 2000 के लिए खुदरा उत्पाद दुकानों की बंदोबस्ती को निरस्त करने के लिए दायर लोकहित याचिका को पटना हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया। मंगलवार को मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे.बी. कोशी तथा न्यायमूर्ति डा. रवि रंजन की खंडपीठ ने अनुज कुमार की ओर से दायर लोकहित याचिका पर सुनवाई की। विदित है कि निर्वाचन आयोग से सहमति मिलने के बाद उत्पाद आयुक्त ने सभी समाहर्ताओं को गत 16 मार्च को एक चिट्ठी भेजकर बंदोवस्ती कराने का निर्देश दिया था। आयुक्त की ओर से जारी चिट्ठी को लोकहित याचिका दायर कर चुनौती दी गई थी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पेयजल के लिए लोगों ने की सड़क जाम