DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर प्रदेश में बढ़ सकती विद्युत की दरें

 घाटे में चल रही उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड ने प्रदेश में बिजली की दरों को बीस प्रतिशत तक बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है, जिससे शहरी क्षेत्र के उपभोक्ताओं पर बोझ बढ़ जायेगा।
   
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, पावर कारपोरेशन ने कल नयी विद्युत दरों का प्रस्ताव राज्य विद्युत नियामक आयोग को सौपा दिया है, जिसमें शहरी क्षेत्र में विद्युत दरों को बीस प्रतिशत तक बढ़ाने का प्रस्ताव है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत दरों में कोई छेड़छाड़ नहीं की गयी है।
   
सूत्रों के अनुसार, शहरी क्षेत्रों में प्रतिमाह 200 यूनिट से ज्यादा बिजली का इस्तेमाल करने वाले घरेलू उपभोक्ताओं को पांच रुपये प्रति यूनिट तक की दर से भुगतान करना पड़ेगा।
   
सूत्रों ने बताया कि पावर कारपोरेशन ने घाटे के चलते काफी उहापोह के बाद वर्ष 2009-10 का वार्षिक राजस्व आवश्यकता (एआरआर) एवं टैरिफ प्रस्ताव विद्युत निमायक आयोग को सौंप दिया है। जिसमें विद्युत दरों में बढोत्तरी का प्रस्ताव किया गया है।
  
 सूत्रों ने बताया कि आयोग को दिये गये प्रस्ताव में ग्रामीण घरेलू उपभोक्ता व शहर के गरीब उपभोक्ताओं के लिए विद्युत दरों में कोई बढोत्तरी प्रस्तावित नहीं है, जबकि शहरी क्षेत्र में सामान्य घरेलू उपभोक्ताओं के लिए दो श्रेणियां बनायी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उत्तर प्रदेश में बढ़ सकती विद्युत की दरें